ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / अजहर को आतंकियों की लिस्ट में शामिल करने का मुद्दा: चीन ने कहा- हमारे कड़े प्रयास जारी

अजहर को आतंकियों की लिस्ट में शामिल करने का मुद्दा: चीन ने कहा- हमारे कड़े प्रयास जारी



बीजिंग. चीन ने बुधवार को यह स्पष्ट किया कि उसकी ओर से पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ब्लैक लिस्ट करने के लिए कड़े प्रयास किए जा रहे हैं। चीन के मुताबिक, अमेरिका यूएन सिक्युरिटी काउंसिल में नियमों से परे जाकर अलग ड्राफ्ट पेश करकेगलत मिसाल पेश कर रहा है।

  1. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शॉन्ग ने कहा, ”चीन इस मामले में सकारात्मक प्रगति के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है। अमेरिका यह बात बहुत अच्छी तरह जानता है। बावजूद इसके ऐसी परिस्थितियों में अमेरिका की ओर से पेश किए गए प्रस्ताव का समर्थन करने की बात करने का कोई मतलब नहीं है।”

  2. गेंग ने अमेरिका के द्वारा प्रस्तावित ड्राफ्ट पर कहा, ”चीन ने मसूद अजहर को लेकर लगातार अपनी स्थिति स्पष्ट की है। हमें उम्मीद है कि सभी सदस्य इस बारे में सभी पहलुओं को देखते हुए 1267 कमेटी के नियमों अंतर्गत इसे खत्म करने का प्रयास करेंगे।”

  3. गेंग ने बताया, ”पिछले सप्ताह सिक्युरिटी काउंसिल के सदस्यों ने अमेरिका के द्वारा प्रस्तावित ड्राफ्ट पर अपने-अपने विचार रखे थे। अधिकांश का मानना था कि अजहर को लिस्ट में शामिल करने या न करने का फैसला, 1267 कमेटी के प्रावधानों के अंतर्गत होना चाहिए। बजाए इसके कि सिक्युरिटी काउंसिल में अमेरिका के द्वारा प्रस्तावित ड्राफ्ट के आधार पर।”

  4. गेंग के मुताबिक, ”अमेरिका का कदम यूएन के नियमों के मुताबिक नहीं है। यह एक गलत मिसाल सामने रख रहा है। इससे यह मामला और भी ज्यादा पेचीदा हो गया है। इससे दक्षिण एशिया में शांति स्थापित करने में दिक्कत आएगी।”

  5. गेंग ने स्पष्ट किया, ”चीन ऐसे मामले में लगातार जिम्मेदार रवैया अपनाएगा। हर पक्ष को ध्यान में रखते हुए सभी पहलुओं पर चर्चा करेगा। हमें उम्मीद है कि इस मामले का कोई बेहतर हल निकाला जा सकेगा।”

  6. फरवरी में जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इसकी जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। इस संगठन का सरगना मसूद अजहर भारत में वॉन्टेड है। अजहर को बैन करने का मामला भारत और चीन के बीच सालों से बना हुआ है। इस बार तो वाशिंगटन और बीजिंग के बीच भी इस बात को लेकर ठन गई है। दोनों के बीच पहले से ही व्यापार को लेकर विवाद की स्थिति बनी हुई है।

  7. अमेरिका ने 13 मार्च को यूएन 1267 सेंशन कमेटी के सामने मसूद को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादियों की सूची में शामिल किए जाने का प्रस्ताव रखा था। मगर चीन ने अपना वोट तकनीकी त्रुटि बताकर रोक लिया था। चीन का कहना है कि अमेरिका ने अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने के लिए 1267 कमेटी के नियमों से परे जाकर नया ड्राफ्ट तैयार किया है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      प्रतीकात्मक फोटो।

Check Also

तीन महीनों में 2.2 अरब फेक अकाउंट्स हटाए, पिछली तिमाही में 1.2 अरब खातों पर कार्रवाई हुई थी

वॉशिंगटन. डेटा शेयरिंग और फेक अकाउंट्स को लेकर कई सरकारों के निशाने पर चल रही …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *