ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / राजस्थान / अतिक्रमण हटाने के विरोध में आत्मदाह करने वाले बाबूलाल ने 5वें दिन दम तोड़ा

अतिक्रमण हटाने के विरोध में आत्मदाह करने वाले बाबूलाल ने 5वें दिन दम तोड़ा




गुड़ा ढहर में पहाड़ी के निकट ढाणी घाटी वाली में रविवार को वन विभाग की कार्रवाई के विरोध में आत्मदाह का प्रयास करने वाले बाबूलाल सैनी ने गुरुवार रात करीब सवा सात बजे जयपुर के एसएमएस अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इससे कुछ देर पहले ही एडीएम राजेंद्र अग्रवाल ने एसएमएस अस्पताल पहुंचकर उसकी कुशलक्षेम पूछी थी। उन्हें भी बाबूलाल की मौत की सूचना झुंझुनूं पहुंचने पर मिली। अग्रवाल ने कहा कि बाबूलाल के भाई ने उसका उपचार ठीक से करवाने का आग्रह किया, जिस पर उन्होंने अस्पताल के चिकित्सकों को निर्देश दिए।

रविवार को सुबह वन विभाग की टीम तथा राजस्व के पटवारी ने गुड़ा ढहर के निकट ढाणी घाटी वाली में संयुक्त सर्वे किया था। उसके बाद वहां निर्माणाधीन मकान को अतिक्रमण मानते हुए कार्रवाई को आगे बढ़ाने लगे तो इसी दौरान पीड़ित बाबूलाल सैनी ने वन विभाग की टीम का विरोध करते हुए अपने शरीर पर तेल छिड़क कर आग लगा ली थी। बाबूलाल को जलते हुए छोड़ कर वन विभाग के रेंजर सहित पूरी टीम वहां से गाड़ियों में बैठ कर भाग गई। बाबूलाल के परिजनों ने उसकी आग बुझा कर पहले पौंख सीएचसी पहुंचाया था। वहां से झुंझुनूं रेफर कर दिया गया। वहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे तुरंत जयपुर रैफर कर दिया गया था। जयपुर में इलाज के दौरान गुरुवार रात सवा सात बजे एसएमएस अस्पताल के बर्न यूनिट में उसने दम तोड़ दिया। इस मामले में वन विभाग रेंजर श्रवण बाजिया सहित तीन जनों को एपीओ कर दिया गया था।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Check Also

पोषाहार में गड़बड़ी करने वाले शिक्षकों और अधिकारियों के खिलाफ हो सख्त कार्रवाई

उपतहसील क्षेत्र की अमरगढ़ ग्राम पंचायत के मच्छीपुरा गांव के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में कुछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *