ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / अधिकारियों ने रेस्त्रां में छोड़ दिए थे भारत के साथ हथियार सौदे के दस्तावेज, वेटर ने वापस लौटाए

अधिकारियों ने रेस्त्रां में छोड़ दिए थे भारत के साथ हथियार सौदे के दस्तावेज, वेटर ने वापस लौटाए



येरुशलम. इजराइल और भारत के बीच हथियार सौदे के गुप्त दस्तावेज एक रेस्त्रां के वेटर की सूझबूझ के चलते लीक होने से बच गए। इजराइली मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस साल जनवरी में जब देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मीर बेन शब्बत सुरक्षा और हथियार सौदे पर बात करने भारत आ रहे थे, तब उनके डेलिगेशन से यह अहम दस्तावेज एक रेस्त्रां पर ही छूट गए थे। हालांकि, वहां काम करने वाले वेटर ने बिना देर किए सभी दस्तावेज सही सलामत दोस्त की मदद से भारत स्थित इजराइली दूतावास पहुंचाए।

भारत से हुई थी हथियार सौदे पर चर्चा
शब्बत भारत में सुरक्षा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अपने समकक्ष एनएसए अजीत डोवाल से मिले थे। यहां उन्होंने दोनों देशों के बीच अलग-अलग हथियार सौदे पर बात की थी। इनमें आधुनिक जासूसी विमानों से लेकर एंटी टैंक मिसाइल, ड्रोन और राडार सिस्टम खरीदने की चर्चा शामिल थी।

जल्दबाजी में छूट गए थे दस्तावेज

इजराइल की वेबसाइट हारेत्ज ने दावा किया है कि भारत आने से पहले एनएसए शब्बत के एक साथी ने हथियारों से जुड़े कुछ गुप्त दस्तावेज प्रिंट कर लिए थे। उड़ान भरने से पहले डेलिगेशन ने एक रेस्त्रां में डिनर किया था। इसी दौरान जल्दबाजी में दस्तावेज रेस्त्रां में ही छूट गए। हालांकि, यह किसी दुश्मन जासूस के हाथों में पड़ने के बजाय रेस्त्रां के ही वेटर को मिल गए।

दोस्त की मां इजराइली दूतावास में काम करती थीं

वेटर ने इन दस्तावेजों की गोपनीयता समझते हुए अपने एक दोस्त को संपर्क किया, जिसकी मां भारत स्थित इजराइली दूतावास में काम करती थीं। इसके बाद उसके दोस्त ने भी बिना देर किए फ्लाइट से भारत तक का सफर किया और खुद अपनी मां तक गुप्त दस्तावेज पहुंचाए। आखिर में यह जरूरी दस्तावेज बिना किसी छेड़छाड़ के एम्बेसी के सुरक्षा अधिकारियों तक पहुंचे।

दस्तावेजों के खोने से नहीं हुआ नुकसान
इजराइल की नेशनल सिक्युरिटी काउंसिल की ओर से बिठाई जांच में सामने आया है कि दस्तावेजों के रेस्त्रां में खोने से देश की सुरक्षा को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। वेटर की समझदारी से यह दस्तावेज किसी जासूस या गलत हाथों तक नहीं पहुंचे। हालांकि, मामले की जांच के बाद दस्तावेज खोने वाले शब्बत के साथी को चेतावनी जारी की गई।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


प्रतीकात्मक फोटो।

Check Also

तीन महीनों में 2.2 अरब फेक अकाउंट्स हटाए, पिछली तिमाही में 1.2 अरब खातों पर कार्रवाई हुई थी

वॉशिंगटन. डेटा शेयरिंग और फेक अकाउंट्स को लेकर कई सरकारों के निशाने पर चल रही …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *