ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / ऑटो / अब ज्यादा सुरक्षित होंगी भारतीय गाड़ियां, हर कार में मिलेगा एयरबैग और एबीएस, क्रैश टेस्ट में भी होना होगा पास

अब ज्यादा सुरक्षित होंगी भारतीय गाड़ियां, हर कार में मिलेगा एयरबैग और एबीएस, क्रैश टेस्ट में भी होना होगा पास



ऑटो डेस्क. ऑटो इंडस्ट्री में साल 2019 को ‘सेफ व्हीकल ईयर’ के तौर पर देखा जा रहा है। 1 अप्रैल 2019 से देश में नए सेफ्टी नियम लागू होने जा रहे हैं। जिसे देखते हुए यह भी कहा जा सकता है कि अब भारतीय गाड़ियां पहले से ज्यादा सुरक्षित होगी। नए सेफ्टी नॉर्म्स के अनुसार कार में स्टैंडर्ड फीचर्स के तौर पर सीट बेल्ट रिमाइंडर, रिवर्स पार्किंग सेंसर्स, स्पीड अलर्ट सिस्टम होना अनिवार्य हो जाएगा वहीं अब से कार को फ्रंट और साइड क्रैश टेस्ट में भी पास होना होगा। साल 2023 तक हर कार में इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल और ऑटोमैटिक ब्रेकिंग सिस्टम होना अनिवार्य हो जाएगा।

safety

क्या कहते हैं आंकड़ें

  • साल 2017 के आंकड़ों पर नजर डाले तो अन्य देशों के मुकाबले सड़क दुर्घटना में मरने वाले लोगों की संख्या काफी ज्यादा थी, खासतौर पर कार चालकों की। जिसे कम करने के लिए सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने कार में एयर बैग का होना अनिवार्य कर दिया था
  • साल 2017 के सरकारी आंकड़ों पर नजर डालें तो सड़क दुर्घटना में 26,869 कार चालकों की मौत हुई जबकि 72 हजार मौतोंमें पैदल, साइकिल और टू व्हीलर चालक शामिल थे।

मिनिस्ट्री ने कहा – कारों में सेफ्टी फीचर्स को अनिवार्य करने का मुख्य उद्देश्य यह है कि गाड़ियां किसी भी मौत का कारण न बने। कारों के साथ ही टू व्हीलर्स में भी सेफ्टी फीचर्स को बेहतर करने पर जोर दिया जा रहा है। अब हर नई टू व्हीलर में डे टाइम रनिंग लाइट तो मिलेगी ही साथ ही इसमें एबीएस (एंटी लॉकिंग ब्रेकिंग) सिस्टम भी अनिवार्य रूप से मिलेंगे जो गाड़ी को फिसलने से रोकेगा और राइडर को सुरक्षित रखेगा।

भारतीय गाड़ियों में सेफ्टी फीचर्स को बेहतर करने के इस कदम को ग्लोबल रोड सेफ्टी ऑर्गेनाइजेशन ने भी काफी सराहना की। भारत का अगला कदम कार में ऐसा सेफ्टी फीचर्स को लाना है जो पैदल चलने वाले लोगों की सेफ्टी का भी खास ख्याल रखेगा। यह फीचर्स कई विकसित देशों की कारों में देखने को मिल जाते हैं।

ग्लोबल न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम के जनरल सेक्रेटरी डेविड वार्ड ने कहा कि यह फीचर्स काफी महत्वपूर्ण है जो पैदल और साइकिल पर चलने वाले लोगों को कार से टकराने से रोकेगा। साल 2017 में सड़क दुर्घटना में मरने वाले पैदल यात्रियों की संख्या 20 हजार थी।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


indian vehicles get more safer from this year know how

Check Also

देश की सबसे सस्ती कार बजाज क्यूट लॉन्च, इसमें है 216 सीसी का इंजन, 43 किमी माइलेज का दावा

ऑटो डेस्क. लंबे इंतजार के बाद भारत में आधिकारिक तौर पर बजाज ऑटो ने क्यूट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *