ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / व्यापार / आईटीसी के चेयरमैन रहे देवेश्वर का 72 साल की उम्र में निधन, 10 गुना बढ़ाया था कंपनी का रेवेन्यू

आईटीसी के चेयरमैन रहे देवेश्वर का 72 साल की उम्र में निधन, 10 गुना बढ़ाया था कंपनी का रेवेन्यू



नई दिल्ली. इंडियन टुबैको कंपनी लिमिटेड (आईटीसी) के पूर्व एग्जीक्यूटिव चेयरमैन और सीईओ वाईसी देवेश्वर का शनिवार को 72 साल की उम्र में निधन हो गया। आईटीसी ने उनके निधन की पुष्टि की। वे लंबे समय से बीमार थे। देवेश्वर दो दशक से ज्यादा आईटीसी के प्रमुख रहे।

देवेश्वर का जन्म 4 फरवरी 1947 को लाहौर में हुआ था। उन्होंने दिल्ली आईआईटी और उसके बाद हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की। 1968 में उन्होंने आईटीसी ज्वाइन की। 1996 में वे कंपनी के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन बने और 5200 करोड़ रु. रेवेन्यू को 51 हजार 500 करोड़ रुपए तक पहुंचा दिया।

1991 से 94 तक देवेश्वर एयर इंडिया के चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर (सीएमडी) रहे। वे आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड में भी डायरेक्टर रहे। देवेश्वर ने 2017 में आईटीसी का चीफ एग्जीक्यूटिव का पद छोड़ दिया था। इसके बाद वे कंपनी के नॉन-एग्जीक्यूटिव चेयरमैन बने रहे।

1996 में आईटीसी के चेयरमैन बने, इनके कार्यकाल में कंपनी का रेवेन्यू 10 गुना बढ़ा

वाईसी देवेश्वर 1968 में बतौर मैनेजमेंट ट्रेनी आईटीसी कंपनी से जुड़े थे और 28 साल बाद उन्हें कंपनी का चेयरमैन और सीईओ बनाया गया। देवेश्वर फरवरी 2017 तक इस पद पर रहे। उनके कार्यकाल में ही कंपनी टोबैको प्रोडक्ट्स के साथ-साथ एफएमसीजी मार्केट में उतरी। इसके अलावा कंपनी ने फूड, पर्सनल केयर, होटल्स, माचिस, अगरबत्ती और स्टेशनरी का बिजनेस भी शुरू किया। उनके कार्यकाल में कंपनी का रेवेन्यू 10 गुना बढ़कर 5,200 करोड़ से 51,500 करोड़ तक पहुंचा।

देवेश्वर के समय कंपनी की ग्रोथ

1996

देवेश्वर कंपनी के चेयरमैन और सीईओ बने।

2000

आईटीसी स्टेशनरी प्रोडक्ट्स के बिजनेस में उतरी और विल्स लाइफस्टाइल नाम से ब्रांड उतारा। क्लासमेट ब्रांड भी आईटीसी का ही है।

2002

फूड बिजनेस में उतरी। आशीर्वाद ब्रांड से आटा बनाया। अगले ही साल सनफीस्ट ब्रांड से बिस्किट लॉन्च किए।

2004

आईटीसी होटल्स का कंपनी में मर्ज किया। बिल्ट इंडस्ट्रियल पैकेजिंग कंपनी लिमिटेड की पेपरबोर्ड मिल को खरीदा।

2007

इस साल बिंगो ब्रांड से आलू के चिप्स लॉन्च किए। फियामा डी विल्स के नाम से पर्सनल केयर प्रोडक्ट का बिजनेस शुरू किया।

2009

आईटीसी की मार्केट कैप 1 ट्रिलियन रुपए तक पहुंची। कंपनी का ग्रॉस रेवेन्यू भी 25 हजार करोड़ से ज्यादा पहुंचा।

2015

आईटीसी ने बी-नैचुरल ब्रांड से जूस बेचना शुरू किया। इसी साल जॉन्सन एंड जॉन्सन और सैवलोन का अधिग्रहण किया।

2016

कंपनी का ग्रॉस रेवेन्यू 50 हजार करोड़ से ज्यादा रहा। इसी साल आशीर्वाद शुगर रिलीज कंट्रोल आटा, सनफ्रेश डेरी व्हाइटनर, फार्मलाइट डाइजेस्टिव बिस्किट और एंगेज परफ्यूम लॉन्च किए।

मोदी ने दुख जताया

ममता ने भी किया ट्वीट

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘‘वाईसी देवेश्वर जी के निधन से दुख हुआ। वे कॉरपोरेट जगत में एक अहम स्थान रखते थे। मेरी उनके साथ कई यादें जुड़ी हैं। उनके परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।’’ 2011 में देवेश्वर को पद्मभूषण से सम्मानित किया गया। उनके परिवार में पत्नी और एक बेटा है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


वाईसी देवेश्वर। (फाइल)

Check Also

6 एयरपोर्ट से एयर इंडिया की उड़ानें आज शाम से प्रभावित हो सकती हैं, आईओसी ने फ्यूल सप्लाई रोकने की चेतावनी दी

मुंबई. एयर इंडिया की कुछ उड़ानें मंगलवार शाम से प्रभावित हो सकती हैं। इंडियन ऑयल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *