ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / इंडोनेशिया की दुर्घटना के बाद ही पायलट ने सुरक्षा कारणों को लेकर बोइंग से शिकायत की थी

इंडोनेशिया की दुर्घटना के बाद ही पायलट ने सुरक्षा कारणों को लेकर बोइंग से शिकायत की थी



वाशिंगटन. इंडोनेशिया में हुए भयावह क्रैश के बाद हीअमेरिकन एयरलाइन के पायलट ने बोइंग एग्जीक्यूटिव्स को बुलवाया थाताकि 737 मैक्स एयरक्राफ्ट की सुरक्षा से जुड़े मामलों पर बात की जा सके। इस बात का खुलासा मंगलवार को यूएस मीडिया की रिपोर्ट में हुआ।

न्यूयॉर्क टाइम्स और सीबीएस न्यूज ने भीअपनी रिपोर्ट में नवंबर में हुई इस मीटिंग का जिक्र किया था। इसमेंउस ऑडियो रिकॉर्डिंग का हवाला भी दिया गया था, जिसमें अमेरिकन एयरलाइन के पायलट और एयरक्राफ्ट निर्माता कंपनी के अधिकारियों के बीच एयरक्राफ्ट की सुरक्षा संबंधी मामलों पर बात हुई। यह इस बात का संकेत थी किपायलट पहले से ही बोइंग में सुरक्षा को लेकर चिंतित थे।

  1. अक्टूबर 2018 में इंडोनेशिया की लॉयन एयर का 737 मैक्स 8 क्रैश हुआ। इसमें 189 लोग मारे गए। मार्च मेंइथियोपियन एयरलाइन की फ्लाइट 302 क्रैश हुई। इसमें 157 लोग मारे गए। इसके बाद दुनियाभर में बोइंग 737 मैक्स 8 की उड़ान पर रोक लगाई गई।

  2. दरअसल, पायलट बोइंग केएमसीएएस एंटी स्टाल सिस्टम को लेकर चिंतित थे। जांचकर्ताओं ने इंडोनेशिया और इथियोपिया में हुए प्लेन क्रैश में इसे हीदुर्घटना का कारण माना गया। हालांकि बोइंग के वाइस प्रेसीडेंट माइक सीनेट के मुताबिक कोई भी अभी तक इस निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा है।

  3. पायलटों का कहना था कि मीटिंग में उन्हेंएमसीएएस सिस्टम के बारे में ज्यादा नहीं बताया गया। यह सिस्टम बोइंग के लिए बिल्कुल नया था। पायलट सेफ्टी यूनियन के प्रमुख माइक मिशेलिस के मुताबिक यहलोग भी इस सिस्टम के बारे में ज्यादा नहीं जानते थे।

  4. लॉयन एयर क्रैश मामले में बोइंग ने एमसीएएस में समस्या आने की आशंका को लेकर पायलट को निर्देश दिए थे। मगर मिशेलिस का मानना है कि जोनिर्देश पायलट को दिए गए थे वो एंटी स्टाल सिस्टम में आई खराबी से निपटने के लिए नाकाफी थे।

  5. मिशेलिस ने बोइंग के अधिकारियों से 737 मैक्स 8 के सॉफ्टवेयर सिस्टम को अपडेट किए जाने की बात कही थी। मगर इसके लिए बोइंग की उड़ान पर रोक लगाना जरूरी था। लगातार दो प्लेन क्रैश के बाद दुनियाभर में बोइंग की उड़ान पर रोक लगा दीगई है।

  6. कंपनी नेफ्लाइट सिस्टम के सॉफ्टवेयर पर काम करना शुरू कर दिया है।कंपनी उम्मीद कर रही है कि जल्दी से उसे रेगुलेटर्स से हरी झंडी मिल जाए। मगर यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि ये प्लेन समर ट्रैवल सीजन के पहले उड़ान के लिए तैयार हो पाएंगे।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      प्रतीकात्मक फोटो।

Check Also

बार में गोलीबारी, 11 की मौत

यह घटना रविवार दोपहर करीब 3.30 बजे पारा राज्य की राजधानी बेलेम में हुई। पुलिस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *