ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / इंडोनेशिया विमान हादसे की तरह ही इथियोपिया में क्रैश हुए प्लेन का स्टैब्लाइजर भी संदिग्ध हालत में मिला

इंडोनेशिया विमान हादसे की तरह ही इथियोपिया में क्रैश हुए प्लेन का स्टैब्लाइजर भी संदिग्ध हालत में मिला



अदीस अबाबा. इथियोपियन एयरलाइंस का बोइंग 737 मैक्स-8 रविवार सुबह उड़ान भरने के बाद 8600 फीट की ऊंचाई तक पहुंचा और उसके बाद अचानक 441 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से नीचे आकर क्रैश हो गया। इसमें 4 भारतीय समेत 157 लोगों की मौत हो गई थी। जांचकर्ताओं का दावा है कि इस हादसे में विमान से स्टैबलाइजर के जो टुकड़े मिले वे पिछले साल इंडोनेशिया में हुए प्लेन क्रैश की तरह ही संदिग्ध स्थिति में थे।

पिछले साल अक्टूबर में इंडोनेशियाई कंपनी लॉयन एयर का बोइंग-737 मैक्स 8 का नया विमान जकार्ता में क्रैश हो गया था। इसमें 189 लोगों की मौत हुई थी। तब ब्लैक बॉक्स की जांच में सामने आया था कि लॉयन एयर का विमान ऊंचाई पर पहुंचने के बाद अचानक से नीचे जाकर क्रैश हो गया। इसके बाद कई विशेषज्ञों ने इसे बोइंग के नए मॉडल की तकनीकी दिक्कत बताया था। हालांकि, इथियोपिया में हुए हादसे के बाद अब भारत, अमेरिका, जर्मनी समेत लगभग सभी देशों ने मैक्स 8 की उड़ान पर रोक लगा दी।

पायलट ने बताई थी नियंत्रण संबंधी परेशानी

इसी बीच अमेरिकी अखबार न्यूयाॅर्क टाइम्स की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अदिस अबाबा एयरपोर्ट से उड़ान भरने के महज 3 मिनट बाद ही विमान में कुछ गड़बड़ी आ गई थी। इसके बाद पायलट ने एयरपोर्ट लौटने की परमिशन मांगी थी। लेकिन बीच में ही दोनों का संपर्क टूट गया। रिपोर्ट में कहा गया है कि पायलट ने एयरपोर्ट को फ्लाइट में नियंत्रण संबंधी समस्या के बारे में बताया था। उस वक्त विमान सुरक्षित ऊंचाई तक भी नहीं पहुंच पाया था। हालांकि, संपर्क खत्म होने के कुछ ही देर बाद विमान प्रतिबंधित सैन्य क्षेत्र के पास रडार से गायब हो गया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Investigators of Ethiopian air crash found conditions similar to Lion Air crashed jet

Check Also

कार्टर देश के सबसे लंबे समय तक जीवित रहने वाले पूर्व राष्ट्रपति बने, बुश का रिकॉर्ड तोड़ा

वॉशिंगटन. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जिमी कार्टर सबसे लंबे समय तक जीवित रहने वाले अमेरिकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *