ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / हरियाणा / इनेलो के 4 विधायकों को जवाब देने को स्पीकर ने तीसरी बार दिए 15 दिन

इनेलो के 4 विधायकों को जवाब देने को स्पीकर ने तीसरी बार दिए 15 दिन



पानीपत.इनेलो के 4 विधायकों पर पार्टी के खिलाफ गतिविधि करने के लगे आरोपों का जवाब देने के लिए उन्हें अब तीसरी बार स्पीकर की ओर से वक्त दिया गया है। अब इन विधायकों को 15 दिन का वक्त मिला है। इन विधायकों की ओर से विधानासभा स्पीकर कंवर पाल गुर्जर की ओर से नोटिस दिए जाने के बाद पहले एक महीने का वक्त मांगा था। एक महीना पूरा होने से पहले विधानसभा से विधायकों की पार्टी वाइज समेत कुछ अन्य जानकारी मांगते हुए यह मिलने पर जवाब देने के लिए एक महीने का और वक्त मांगा था, लेकिन अब स्पीकर ने आदेश जारी कर दिए हैं कि इन विधायकों को जल्द ही जो जानकारी मांगी है, वह दी जाए। साथ ही उन्हें 15 दिन में जवाब देना होगा।

सूत्रों का कहना है कि एक-दो दिन में चारों विधायकों को उनके द्वारा मांगी गई सूचना दे दी जाएगी। हरियाणा विधानसभा का मानसून सत्र 27 अगस्त से पहले हर हाल में होना है। संभावना है कि इन चार विधायक नैना चौटाला, राजदीप फौगाट, अनूप धानक और पिरथी नंबरदार से इससे पहले जवाब जरूर ले लिया जाएगा।

आगे की प्रक्रिया स्पीकर के विवेक पर निर्भर करेगी, क्योंकि इस मामले में शिकायतकर्ता फतेहाबाद से इनेलो के विधायक के तौर पर बलवान सिंह दौलतपुरिया ने की थी। अब वे भाजपा में शामिल होने के साथ अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं। विधानसभा स्पीकर ने उनका इस्तीफा भी स्वीकार कर लिया है। अब दूसरी पार्टी सामने नहीं रही है। इधर, सूत्रों का कहना है कि यदि विधायकों की सदस्यता खत्म की जाती है तो वे इसे हाईकोर्ट में चुनौती दे सकते हैं।

कांग्रेस की आपसी खींचतान में फंसी नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी :
अभय चौटाला की नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी जाने के बाद दूसरे नंबर की पार्टी बनी कांग्रेस में नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी आपसी खींचतान में फंसी हुई है। कांग्रेस के 17 विधायक हैं। इनमें किसी एक को नेता प्रतिपक्ष बनना है। हालांकि अभय चौटाला को हटाए जाने के बाद कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी की ओर से स्पीकर को चिट्‌ठी लिखकर इस पद के लिए दावेदारी की थी, लेकिन उनसे पार्टी या विधायकों की ओर से प्रस्ताव मांगा गया है, जो नहीं दिया गया है। कांग्रेस में लोकसभा चुनाव के बाद खींचतान और बढ़ती जा रही है। ऐसे में पार्टी और विधायक अभी तक यह तय नहीं कर सके हैं कि नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी किसे मिलेगी।

जो शिकायत दी थी, वही बात विधानसभा में रखूंगा :
शिकायत करने वाले दौलतपुरिया का कहना है कि भले ही वे अब विधायक नहीं रहे हैं, लेकिन शिकायतकर्ता वही हैं। स्पीकर बुलाते हैं तो उनका वही रहेगा जो शिकायत में बताया गया है।

विधायकों को दिया है समय :

चारों विधायकों को 15 दिन का और वक्त दिया है। उन्होंने जो जानकारी मांगी है, वह मुहैया कराई जा रही है। इधर, कांग्रेस से नेता प्रतिपक्ष को लेकर प्रस्ताव मांगा था, जो अभी तक नहीं मिला है।
कंवरपाल गुर्जर, स्पीकर, विधानसभा

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Speaker’s notice to 4 of INLD’s legislators

Check Also

चिकित्सकों के साथ हो रही हिंसक घटनाओं पर जताया रोष

चिकित्सकों के साथ घट रही हिंसक घटनाओं एंव एनआरएस मेडिकल कॉलेज कोलकाता के चिक्तिसकों पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *