ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / हरियाणा / उचाना में अब भी खुले में पड़ा सैकड़ाें क्विंटल गेहूं

उचाना में अब भी खुले में पड़ा सैकड़ाें क्विंटल गेहूं




उचाना. बारदाना न मिलने से खुले में पड़ी गेहंू की ढेरी।

भास्कर न्यूज | उचाना

गेहूं की खरीद कई के दिन बीत जाने के बाद भी उचाना मंडी के आढ़तियों को बारदाना का इंतजार है। बारदाना न मिलने से सैकड़ाें क्विंटल गेहूं की फसल खुले में पड़ी है। बारिश का मौसम होने के चलते आढ़तियों को गेहूं खराब होने का डर भी बना हुआ है। आढ़तियों द्वारा बार-बार खरीद एजेंसी हैफेड से बारदाना लेने की मांग की जा रही है। लेकिन इसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा।

आढ़तियों ने कहा कि अगर बुधवार दोपहर तक बारदाना हैफेड ने नहीं दिया तो पुरानी मंडी में हैफेड कार्यालय के बाहर गांधीगिरी करते हुए बारदाना देने की मांग को लेकर धरना शुरू करेंगे। सत्यनारायण, जगदीप, प्रदीप, अनिल, रमेश ने कहा कि करीब 20 दिन पहले हैफेड ने गेहूं की फसल खरीदी थी। बार-बार बारदाना की मांग के लेकर कार्यालय में चक्कर काट रहे है लेकिन बारदाना पीछे से नहीं आ रहा है ये ही एक जबाव होता है। खुले में गेहूं है सोमवार को देर शाम बारिश होने से तिरपाल ढक कर फसल को बारिश से बचाया। तेज बारिश अगर होती है तो फसल खराब होने का डर बना हुआ है। जब खरीद को इतने दिन हो गए है तो बारदाना अब तक क्यों नहीं दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अधिकारी के बार-बार नोटिस में लाने के बाद कोई समाधान नहीं हो रहा है। मार्केट कमेटी सचिव को भी इस बारे में अवगत करवा चुके है। बारिश से अगर गेहूं खराब होता है तो यह जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। पहली बार गेहूं के सीजन में ऐसा हुआ है जब बीस दिन की खरीद के बाद भी बारदाना नहीं दिया जा रहा है। हैफेड मैनेजर अशोक सिहाग ने कहा कि सवा लाख के करीब मंडी, सेंटरों के गेहूं के बैगों का बारदाना आना है। इसको लेकर कई बार उच्चाधिकारियों को अवगत करवा चुके है। जल्द ही बारदाना आने वाला है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Uchana News – haryana news hundreds of quintal wheat still in open in uchana

Check Also

व्यक्ति पर डंडों से किया हमला, 5 पर केस दर्ज

उकलाना मंडी | पुलिस ने एक व्यक्ति पर लाठी डंडों से हमला करने के मामले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *