ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / एन/डी व मुन्नाभाई के नाम से बुक कराया था माल, फिर भी पकड़ा, 15 क्विं. पाॅलीथिन जब्त

एन/डी व मुन्नाभाई के नाम से बुक कराया था माल, फिर भी पकड़ा, 15 क्विं. पाॅलीथिन जब्त



खंडवा. पॉलीथिन का विक्रय, उपयोग और परिवहन प्रतिबंधित होने के बावजूद बेखौफ इसका कारोबार शहर में हो रहा है। कार्रवाई से बचने के लिए इस अवैध कारोबार में संलिप्त लोग कोड वर्ड में काम कर रहे हैं। इंदौर से खंडवा तक सांकेतिक नामों से कच्चे में (बिना बिल) के माल बुलाया जा रहा है। पॉलीथिन की बोरियों पर दुकान और लोगों के आधे-अधूरे नाम और अंग्रेजी अल्फाबेट के अक्षर लिखकर बुलवाया जा रहा है। गुरुवार को इसका खुलासा हुआ।

सलूजा कॉलोनी स्थित श्री कृष्णा कार्गो ट्रांसपोर्ट कंपनी में अधिक मात्रा में पॉलीथिन होने की सूचना पर निगम अमले ने दबिश दी। यहां 9 क्विंटल 45 किलो पॉलीथिन जब्त की गई। ट्रांसपोर्ट कंपनी के संचालक ने बोरियों पर लिखे नामों के आधार पर व्यवसायियों से फोन पर चर्चा कर माल जब्त होने बात कही तो किसी भी व्यवसायी ने अपना माल होने की जिम्मेदारी नहीं ली।

इसी क्षेत्र में एमपी प्लास्टिक सेंटर पर भी निगम अमले ने दबिश दी। यहां से भी 5 क्विंटल 80 किलो प्लास्टिक की थैलियां जब्त की गई। दोनों स्थानों से 15 क्विंटल 25 किलो पॉलीथिन जब्त की।

ट्रांसपोर्ट व्यवसायी सलीम बाठिया से 5 हजार रुपए और एमपी प्लास्टिक के प्रदीप माहेश्वरी से पांच हजार रुपए जुर्माना राशि भी वसूल की गई। यह पहला मौका है जब एक ही दिन में इतनी अधिक पॉलीथिन जब्त की गई। यह माल सात लोगों का है। इससे पहले एक साल में निगम ने लगभग सात क्विंटल पॉलीथिन जब्त की थी। गुरुवार को अचानक की गई कार्रवाई से प्लास्टिक थैलियों का अवैध कारोबार करने वाले लोगों में हड़कंप मच गया है।

ऐसे होता है कोड वर्ड में कारोबार : ट्रांसपोर्ट पर बोरियों में अक्सर लोग कच्चे बिल पर बुकिंग करवा देते हैं। इस तरह के माल की बुकिंग अधिकांश हम्माल करते हैं। बोरी पर पूरा नाम पता नहीं होता। इस कारण इंदौर या अन्य शहर से खंडवा माल आने पर संबंधित व्यक्ति ट्रांसपोर्ट पर पहुंचकर अपनी बोरी पर लिखे नाम की जानकारी देकर माल मांग लेता है। ट्रांसपोर्टर भाड़ा लेकर संबंधित व्यक्ति का फोन नंबर लिखकर उसे माल सौंप देता है।

इस तरह निगम ने की कार्रवाई : ठोस अपशिष्ट प्रबंधन विभाग प्रभारी शाहीन खान ने बताया करीब 15 दिन से इसके लिए प्रयास किए जा रहे थे। बाजार में छोटे विक्रेताओं से जब्ती के दौरान उनसे यह पूछा गया कि आखिर कहां से लाए है। एक के बाद एक व्यक्ति के नाम सामने आए और मामला ट्रांसपोर्ट तक पहुंचा। सुबह जाकर चेक किया तो वहां माल भी मिल गया। इसी तरह की कार्रवाई आने वाले समय में भी की जाएगी।

ऐसे कोड वर्ड में आया था माल : एन/डी (8 बोरी ) भवानी प्लास्टिक (2 बोरी) मुकेश प्लास्टिक (2 बोरी) मुन्ना भाई (4 बोरी) जैनी (2 बोरी) बांबे एजेंसी (1 बोरी)

बोरी की पैकिंग रहती है। इस कारण पता नहीं चल पता है कि उसमें क्या रखा है। दो महीने पहले ही ट्रांसपोर्ट शुरू किया। प्लास्टिक प्रतिबंधित है इसकी जानकारी भी नहीं थी। हम्माल इस तरह माल ले आते हैं। कुछ सामान का बिल नहीं रहता इसलिए कच्चे पर एक-दो बोरी आ जाती है।

सलीम बाठिया, ट्रांसपोर्ट व्यवसायी

गुरुवार को करीब 15 क्विंटल पॉलीथिन जब्त की है। इंदौर नगर निगम से बात की जाएगी। जिस ट्रांसपोर्ट कंपनी से माल जब्त किया है। उसकी जानकारी देकर भेजने वाले तक पहुंचने की कोशिश करेंगे।

हिमांशु सिंह, आयुक्त, ननि

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


ट्रांसपोर्ट कंपनी से पॉलिथीन जब्ती की कार्रवाई करता निगम का अमला।

Check Also

पार्वती नदी से अवैध उत्खनन कर रेत ढोई जा रही थी, ट्रेनी आईएएस ने 2 ट्रैक्टर जब्त किए

गुना. सिंध नदी में उत्खनन रुकने के बाद माफियो ने पार्वती नदी पर यह काम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *