ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / टेक / कर्मचारियों को फ्री में हुवावे के फोन दे रही हैं कंपनियां, खरीद की रसीद दिखाने पर शराब भी मुफ्त

कर्मचारियों को फ्री में हुवावे के फोन दे रही हैं कंपनियां, खरीद की रसीद दिखाने पर शराब भी मुफ्त



गैजेट डेस्क. अमेरिका में चाइनीज टेक्नोलॉजी कंपनी हुवावे पर प्रतिबंध का नुकसान एपल को भुगतना पड़ रहा है। चीन की बहुत सी कंपनियां हुवावे के समर्थन में आ गई हैं। ये कंपनियां अपने कर्मचारियों को आईफोन के बजाय हुवावे के स्मार्टफोन इस्तेमाल करने के लिए कह रही हैं। चाइनीज कंपनी का फोन खरीदने के लिए ये 10 से 20% डिस्काउंट दे रही हैं। कुछ कंपनियों ने तो मुफ्त में हुवावे का फोन देने का भी ऑफर किया है।

करीब दो दर्जन कंपनियां ऐसी भी हैं, जिन्होंने सोशल मीडिया पर हुवावे के प्रोडक्ट ज्यादा खरीदने की घोषणा की। इनमें टेक्नोलॉजी से लेकर फूड सेक्टर तक की कंपनियां शामिल हैं। एक अधिकारी के मुताबिक पूरे चीन में कई सौ कंपनियां हुवावे के समर्थन में अभियान चला रही हैं।

हुवावे के फोन की रसीद दिखाने पर शराब मुफ्त

  • इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी शंघाई यूलुक इलेक्ट्रॉनिक एंड टेक्नोलॉजी ने हर कर्मचारी को हुवावे के दो स्मार्टफोन मुफ्त देने का ऑफर किया है। शिनचेन टेक्नोलॉजी कंपनी हुवावे या जेडटीई के फोन लेने पर 18% पैसा देने का वादा किया है।
  • हेनान राज्य की एक कंपनी का ऑफर है कि जो भी कर्मचारी हुवावे की डिवाइस खरीदने की रसीद देगा, उसे उसकी कीमत के 30% रकम के बराबर शराब मुफ्त दी जाएगी।

आईफोन इस्तेमाल करने पर नौकरी से हटाने की भी चेतावनी

  • कुछ कंपनियों ने कर्मचारियों से एपल का बायकॉट करने को कहा है। पिछले दिनों शेनझेन की एक कंपनी ने अपने कर्मचारियों को चेतावनी दी थी कि अगर उनके पास एपल के फोन पाए गए तो उन्हें जब्त कर लिया जाएगा। इसके बाद भी अगर नहीं माने तो उन्हें नौकरी से हटाया जा सकता है।
  • हुवावे का मुख्यालय शेनझेन में है। कुछ कंपनियों ने आईफोन की कीमत के बराबर जुर्माना लगाने तो कुछ ने बोनस नहीं देने की चेतावनी दी है। जिन देशों के साथ चीन की सरकार के संबंध बिगड़ते हैं, चाइनीज उन देशों के प्रोडक्ट का बहिष्कार करने लगते हैं।

अमेरिका के कहने पर कनाडा ने हुवावे की सीएफओ को गिरफ्तार किया था

  • अमेरिका के कहने पर कनाडा ने 1 दिसंबर को वैंकूवर में कंपनी की चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर (सीएफओ) मेंग वांगझू को गिरफ्तार कर लिया था। मेंग हुवावे के प्रमोटर रेने जेंगफेई की बेटी हैं। कंपनी पर धोखाधड़ी के आरोप में उन्हें गिरफ्तार किया गया है।
  • अमेरिका का कहना है कि प्रतिबंध के बावजूद कंपनी ने अमेरिकी उपकरण ईरान को बेचे। इसकी जानकारी वित्तीय संस्थानों से छिपाई। चीन की सरकार और हुवावे ने आरोपों को गलत बताया है।
  • इसके बाद चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने कॉरपोरेट जगत से हुवावे का समर्थन करने के लिए कहा था। कम्युनिस्ट यूथ लीग ने सोशल मीडिया पर लेख पोस्ट किया हैं, जिसमें कंपनियों से हुवावे के प्रोडक्ट खरीदने वाले कर्मचारियों को सब्सिडी देने का आग्रह किया गया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


companies providing free huawei phones to employees

Check Also

फेक न्यूज पर लगाम लगाने की तैयारी में व्हाट्सएप, पता चलेगा कितनी बार फॉरवर्ड हुआ मैसेज

गैजेट डेस्क.व्हाट्सएप एक नए फीचर पर काम कर रहा है जिसके जरिए पता चल सकेगा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *