ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / उत्तर प्रदेश / कांग्रेस को वापसी का इंतजार, इस बार गठबंधन और भाजपा के बीच मुकाबला

कांग्रेस को वापसी का इंतजार, इस बार गठबंधन और भाजपा के बीच मुकाबला



लखनऊ. शायरों की नगरी कही जाने वाली उत्तर प्रदेश की अमरोहा लाेकसभा सीट पर सभी की नजरें हैं। मुस्लिम बहुल इस सीट पर 2014 में सभी को चौंकाते हुए भाजपा ने जीत दर्ज की थी। मुस्लिमों के अलावा इस सीट पर जाटों का भी वर्चस्व रहा। मेरठ, मुरादाबाद और संभल से सटे अमरोहा में इस बार वोटरों का मिजाज ही यहां का रुख तय करता है। वैसे तो पिछलेतीन दशकों से कांग्रेस को इस सीटअपनी जीत का इंतजार है।

भाजपा ने मौजूदा सांसदकंवर सिंह तंवरको मैदान में उतारा है।कांग्रेस नेसचिन चौधरी को टिकट दिया है। सचिन,4 महीने पहले ही राजनीति में आए हैं। वह पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, गठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी के तौर परकुंवर दानिश अली को मैदान में उतारा है। मुकाबला दानिश और कंवर सिंह के बीच माना जा रहा है।

अमरोहा लोकसभा सीट का इतिहास

1957से लेकर 1971 तक हुए हुए चार चुनाव मेंइस सीट पर दो बार कांग्रेस और फिर दो बार सीपीआई ने जीत दर्ज की। 1980 में जनता पार्टी, 1984 में कांग्रेस और 1989 में एक बार फिर जनता दल ने यहां जीत दर्ज की। 1991, 1998 में यहां भारतीय जनता पार्टी की तरफ से पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान सांसद चुने गए। सपा सिर्फ 1996 में यहां से चुनाव जीत पाई। 1999 में बहुजन समाज पार्टी के राशिद अल्वी ने चुनाव जीता, 2004 में ये सीट निर्दलीय और 2009 में रालोद के खाते में गई।

अमरोहा का समीकरण

अमरोहा में करीब 16 लाख वोटर हैं।इनमें से 8,29,446 पुरुष वोटर और 7,14,796 महिला वोटर हैं। 2014 में यहां करीब 71 फीसदी मतदान हुआ था।इस सीट पर दलित, सैनी और जाट वोटर अधिक संख्या में हैं, जबकि मुस्लिम वोटरों की संख्या भी 20 फीसदी से अधिकहै।

पांच विधानसभाएं

इस लोकसभा सीट पर 5 विधानसभाएं हैं।धनौरा, नौगावां सादत, अमरोहा, हसनपुर और गढ़मुक्तेश्वर हैं। 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में इनमें से सिर्फ अमरोहा सीट ही समाजवादी पार्टी के खाते में गई, जबकि अन्य सभी सीटों पर भाजपा का कब्जा रहा था।

2014 के नतीजे

2014 में इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी के कंवर सिंह तंवर जीत कर आए। उन्होंने समाजवादी पार्टी के हुमैरा अख्तर को करीब 1 लाख वोटों से मात दी।तीसरे नंबर पर रही बहुजन समाज पार्टी को भी यहां करीब पंद्रह फीसदी वोट मिला।

लोकसभावार परिणाम-

लोकसभा वर्ष जीते हारे
2014 कवंर सिंह तवर, भाजपा हमेरा अख्तर, सपा
2009 दवेंद्र नागपाल, रालोद महबूब अली , सपा
2014 हरीश नागपाल , निर्दलीय महबूब अली, रालोद
1999 राशिद अल्वी, बसपा चेतन चौहान, भाजपा
1998 चेतन चौहान, भाजपा अली हसन, बसपा
1996 प्रताप सिंह, सपा चेतन चौहान , भाजपा
1991 चेतन चौहान , भाजपा हरगोविदं, जनता दल
1989 हरगोविंद , जनता दल खुर्शीद अहमद, कांग्रेस
1984 रामपाल सिंह, कांग्रेस इशरत अली अंसारी, निर्दल
1980 चंद्रपाल सिंह, जनता पार्टी सेक्यूलर इशरत अली, जनता पार्टी
1977 चंद्रपाल सिंह, भारतीय लोकदल सत्ता अहमद, कांग्रेस
1971 इशाक सम्भाली, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया चंद्रपाल सिंह, निर्दल
1967 इशाक सम्भाली, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया आर सिंह, भारतीय जनसंघ
1962 हिफजुल रहमान, कांग्रेस हदरदेव सहाय, जनसंघ
1957 हिफजुल रहमान, कांग्रेस बूटा राम, भारतीय जनसंघ

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


amroha seat congress waiting to win since last 30 years

Check Also

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर ट्रक और बस में टक्कर, सात लोगों की मौत

आगरा. आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर शनिवार देर रात मैनपुरी जिले के करहल थानाक्षेत्र के पास दिल्ली …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *