ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / बिहार / किसान कम जमीन में मछली पालन कर बन सकते हैं उद्यमी

किसान कम जमीन में मछली पालन कर बन सकते हैं उद्यमी




हरपुर बोचहा में प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रमाण पत्र लेते किसान।

भास्कर न्यूज|विद्यापतिनगर

प्रखंड के सर्वोत्तम ग्राम पंचायत हरपुर बोचहा के दुमर्दह चौर में किसान मनोज कुमार चौधरी के मछली फॉर्म पर शुक्रवार को राष्ट्रीय कृषि शिक्षा परियोजना के अंतर्गत कौशल विकास कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के अंतिम दिन समापन समारोह में किसानों को प्रशिक्षित कर प्रमाण पत्र का वितरण किया गया। इस दौरान केंद्रीय मात्स्यिकी शिक्षा संस्थान मुंबई के क्षेत्रीय अनुसंधान व प्रशिक्षण केंद्र मोतीपुर के वैज्ञानिक डॉ. अकलाकुर ने कहा कि बायोफ्लॉक विधि से किसान कम जमीन में मछली पालन कर उद्यमी बन सकते हैं। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य किसानों को प्रशिक्षित कर राज्य में रोजगार, स्वाबलंबन, उद्यमिता को बढ़ावा देना है। इस प्रशिक्षण से लोगों को रोजगार तो मिलेगा ही, साथ ही उनका दूसरे राज्यों में पलायन भी रुकेगा। राज्य में मछली पालन आर्थिक विकास व ग्रामीण विकास की आधारशिला रख सकता है। अब किसानों को खेती का औद्योगिक रूप देकर जल को संपदा के रूप में देखना होगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान किसानों को बायोफ्लॉक, आरएएस सिस्टम व पिजड़ा विधि से मछली पालन की विस्तृत जानकारी दी गई। प्रशिक्षण कार्यक्रम में डॉ. सौरव कुमार, दिलीप कुमार, किसान मनोज कुमार चौधरी, सुनील कुमार, संजय ठाकुर, पप्पू ठाकुर आदि थे।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Vidyapatinagar News – farmers can become fishermen in low land entrepreneurs

Check Also

आपसी रंजिश में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, पूर्व मुखिया घायल

सुपौल, 21 मार्च (भाषा) बिहार के सुपौल जिले के किशनपुर थाना अंतर्गत सिंगिआवन गांव में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *