ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / राजस्थान / कुत्तों के नोचने की घटना पर सीएमओ ने मांगा जवाब, नए उपायुक्त ने शुरू की जांच

कुत्तों के नोचने की घटना पर सीएमओ ने मांगा जवाब, नए उपायुक्त ने शुरू की जांच



जयपुर.कुत्तों को काटने की घटना पर नगर निगम की पशु नियंत्रण शाखा भले ही गंभीर नहीं हो। लेकिन मुख्यमंत्री कार्यालय ने नगर निगम से संबंधित प्रकरण पर जवाब मांगा है। सीएमओ ने पिछले आठ दिनों में कुत्तों द्वारा बच्चों को काटने की जितनी भी घटनाएं हुई हैं, उनकी ओर जो घायल हुए हैं उन बच्चों व परिजनों के बारे में संपूर्ण जानकारी मांगी है।

उधर, कुत्तों को पकड़ने का काम कर रही फर्म को निगम ने 20 लाख का भुगतान कर दिया है और उसे हर माह एक हजार कुत्ते पकड़कर बधियाकरण करने का टारगेट दिया गया है। ऐसा नहीं करने पर फर्म को ब्लेक लिस्ट करने के भी निर्देश जारी किए गए हैं।

कुत्ते काटने की घटना के बाद हटाए गए पशु नियंत्रण उपायुक्त के बाद निगम कमिश्नर विजयपालसिंह ने पशु नियंत्रण व गौशाला शाखा के सभी कर्मचारियों को दूसरी शाखा में भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी है। साथ ही नये उपायुक्त रामकिशोर मेहता ने पूरे प्रकरण की जांच शुरू कर दी है। इसमें श्वान घर में जरूरत के हिसाब से सुधार करने, बधियाकरण परिसर में कैमरे लगाने व भौतिक सत्यापन के बाद ही बधियाकरण होना मानने के निर्देश दिए हैं।

पिछले दस दिन के भीतर जो भी कुत्ते के काटने की घटनाएं हुई हैं। उसके पीछे का कारण क्या रहा, उन्हें कैसे रोका जाए तथा एनजीओ से क्या सहायता ली जाए, इसकी रिपोर्ट उपायुक्त मेहता तैयार करके कमिश्नर को भेजेंगे। एसएफएस निवासी 9 वर्षीय श्रृष्टि जैन शाम को घर के बाहर खेल रही थी। तभी कुत्तों ने बच्ची को घायल कर दिया। श्रृष्टि के पिता सनमति जैन ने बताया कॉलोनी के आस-पास 50 से अधिक कुत्तों का झूंड रहता है।

महापौर से लेकर निगम तक शिकायत कर चुके हैं, लेकिन ना तो बधियाकरण किया गया और ना ही रैबीज के टीके लगाए गए। तीन साल में संख्या तीन-गुनी तो हो गई है। एसएफएस रेजिडेंस सोसायटी के अध्यक्ष हरी सिंह नाथावत ने बताया कि मेयर को भी समस्या से अवगत करवाया तो बोले कमिश्नर से मिलो। जबकि पिछले दिनों से लगातार हमारी कॉॅलोनी में 4 लोगों को कुत्ते काट चूके है। और हम निगम में भी शिकायत दर्ज करवा चूके है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


CMO responds to Dogs’ panic in Jaipur

Check Also

मंडी के हम्मालों को बांट दिए 36 करोड़ के लोन, फर्जी दस्तावेज से फंड ट्रांसफर

जयपुर. पाली कॉपरेटिव बैंक में 36 करोड़ के फर्जी हाउस लोन का बड़ा घोटाला सामने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *