ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / कृत्रिम 3डी टिश्यू बनाए जा रहे, टूटी हड्डियों को जोड़ने में कारगर साबित होंगे

कृत्रिम 3डी टिश्यू बनाए जा रहे, टूटी हड्डियों को जोड़ने में कारगर साबित होंगे



हेल्थ डेस्क. जल्द ही कृत्रिम 3डी टिश्यू की मदद से टूटी हड्डियों को जोड़ा जा सकेगा। अमेरिकी वैज्ञानिक कृत्रिम 3डी टिश्यू बना रहे हैं जिसकी मदद से स्पोर्ट्स इंजरी के कारण डैमेज हुई हड्डियों और कार्टिलेज को जोड़ा जा सकेगा। टिश्यू को राइस यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता तैयार कर रहे हैं।

  1. शोधकर्ताओं के मुताबिक, शरीर की लंबी हड्डियों के किनारों पर मौजूद ऑस्टियोकॉन्ड्रल टिश्यू को बनाया जा रहा है। ऐसी हड्डियों में इंजरी होने पर दर्द असहनीय हो जाता है। यह इस कदर परेशान करने वाला होता है किखिलाड़ियों का करियर तक खत्म हो जाता है।

  2. एक्टा मैटेरिलिया जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार, शरीर में ऑस्टियोकॉन्ड्रल इंजरी आर्थराइटिस का कारण भी बन सकती है। हड्डी से जुड़े कार्टिलेज में छेदहोने के कारण इसे लैब में बनाना काफी मुश्किलोंभरा है। लेकिन वैज्ञानिक 3डी प्रिंटिंग तकनीक की मदद से इसे जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

  3. शोधकर्ता सीन विटनर के मुताबिक, ज्यादातर एथलीट ऐसी ही इंजरी से प्रभावित होते हैं हालांकि आम लोगों में भी ऐसा हो सकता है। कॉमस स्पोर्ट्स इंजरी में 3डी तकनीक से तैयार होने वाले टिश्यू का इस्तेमाल एक पावरफुल टूल की तरह किया जा सकेगा।

  4. शोधकर्ताओं की टीम में अमेरिका की मेरीलैंड यूनिवर्सिटी के रिसर्चर भी शामिल हैं जो पॉलीमर मिक्सचर बना रहे हैं। इसकी मदद सेकोशिकाओं और रक्तवाहिनियों को गुजरने में आसानी होगी। खास बात है कि इसे इस तरह से तैयार किया जा रहा है कि बिना बदलाव के हर मरीज में एक ही तरह से इस्तेमाल किया जा सके।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      3डी टिश्यू।

Check Also

घर में मौजूद धूल भी बनती है अस्थमा अटैक का कारण, सफाई रखें और खिड़कियों पर पर्दे जरूर लगवाएं

हेल्थ डेस्क.एलोपैथी डॉक्टर और लेखक डॉ. अव्यक्त अग्रवाल के मुताबिक, बच्चों के अस्थमा के मामले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *