ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / कोलकाता में पकड़े गए 7 सटोरियों में से 4 सागर के, सभी कारोबारी परिवारों से जुड़े हैं

कोलकाता में पकड़े गए 7 सटोरियों में से 4 सागर के, सभी कारोबारी परिवारों से जुड़े हैं



सागर। कोलकाता के ईडन गार्डन में कोलकोता नाइट राइडर व रॉयल चैलेंर्जस बेंगलुरु के बीच खेले गए आईपीएल मैच के दौरान सट्‌टा खिलाते पकड़े गए 7 में से 4 सटोरिए सागर के निवासी हैं। ये चारों एक ही ग्रुप और प्रतिष्ठित घरानों से ताल्लुक रखते हैं। इनमें से दो पहले बांग्लादेश में क्रिकेट सट्‌टा खिलाते पकड़े गए थे। गुजराती बाजार में अमर टॉकीज कंपाउंड से इनके बुकी सट्‌टे की बुकिंग लेकर लोगों को आईडी दे रहे थे।

पिछले आईपीएल सीजन में भी यहां से सट्‌टा कारोबार खूब फला फूला। इस ठिकाने पर सटोरिए अक्सर कोतवाली पुलिस के एक सिपाही के साथ देखे जाते रहे हैं। यहां की चाय-पान की एक होटल पर पहले दिनभर सटोरियों का जमघट रहता था, शनिवार को मोबाइल पर आईपीएल क्रिकेट का स्कोर देखने वाले लोग गायब थे।

मुंबई की कहकर निकले थे 10-12 लोग, किसी भी मैच का टिकट हांसिल करने में हैं माहिर : कोलकाता में गिरफ्तार लोगों में मुकुल जैन, पीयूष जैन, प्रतीक जैन व मयंक सेठ चारों सागर के अलग-अलग इलाकों के रहने वाले हैं। ये आपस में दोस्त भी हैं। इनके अलावा नागपुर के दीपक कुमार कसलिकार, वसीम अहमद और गोविंद मनियार भी पकड़े गए।. इन सभी को इडेन गार्डेन के एफ 1 ब्लॉक के पास से गिरफ्तार किया गया था। यह गिरोह ऑनलाइन बेटिंग कर रहे थे। इनका खुद का ग्रुप था। सागर से 4-5 दिन पहले 10-12 लोग मुंबई की कहकर घर से निकले थे। इनमें मुकुल, पीयूष, प्रतीक व मयंक के अलावा उनके कुछ और साथी शामिल हैं। आईपीएल के अलग-अलग मैचों के आधार पर इनकी अलग-अलग टीमें काम कर रही हैं। ये सभी किसी भी मैच का टिकट हांसिल करने में माहिर हैं। एक अन्य सटोरिया रीतेश उर्फ रित्तू भी इसी गैंग से जुड़ा हुआ है। वह लंबे समय से सागर में नहीं दिख रहा। प्रतीक के भाई ने बताया कि परिवार के लोगों को यह जानकारी थी कि वह कपड़े के कारोबार के सिलसिले में गया है। क्रिकेट सट्‌टे के बारे में कुछ भी पता नहीं है।

एडिशनल एसपी राजेश व्यास ने बताया कि पियूष व प्रतीक दोनों बांग्लादेश में पकड़े जाने की जानकारी मिली है। ये सभी बड़े परिवारों से हैं। इनके बारे में और जानकारी जुटाई जा रही है। शहर में कब से सट्‌टा खिला रहे थे और कौन लोग इनसे जुड़े हुए हैं। मकरोनिया में पकड़े गए सटोरियों से इनका क्या कनेक्शन है इन सब बिंदुओं पर जांच कराई जा रही है।

जानिए कैसे खेला जाता है आईडी लेकर क्रिकेट सट्‌टा
क्रिकेट सट्‌टा एक तरह से ऑनलाइन खिलाया जाता है। ग्रुप के बुकी लोगों को सट्‌टा खेलने के लिए उनके मोबाइल पर आईडी उपलब्ध कराते हैं। जिसे जितने का सट्‌टा खेलना होता है वह पहले उतनी रकम बुकी के पास कैश जमा करता है। उसे सट्‌टे की रकम भी कैश ही लौटाई जाती है। कोलकाता में पकड़ी गई गैंग से मिले मोबाइल और दस्तावेजों के आधार पर इनसे जुड़े सागर के और लोगों का राज खुल सकता है।

मकरोनिया में पकड़े गए सटोरिए से जुड़ सकते हैं तार
मुकुल, पीयूष, प्रतीक व मयंक 4-5 साल से सक्रिय हैं। पिछ्ले साल मोतीनगर पुलिस ने दो सटोरियो को गिरफ्तार किया था, लेकिन बाद में छोड़ दिया गया। पिछ्ले दिनो मकरोनिया मे पकडे गए कटनी के सटोरियो से इनके तार जुड़ सकते हैं। मकरोनिया में सट्‌टा खिलाने वाली गैंग का सरगना सतना का है। पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए दो बार दबिश दी, लेकिन वह भाग निकला।

  • पियूष जैन उर्फ बिट्टू खंजर, उम्र 25 साल : खुरई रोड आईटीआई के पास रहने वाला पियूष जैन बंग्लादेश में क्रिकेट सट्‌टा खिलाते पकड़ा गया था। करीब डेढ़ महीने पहले वह जमानत पर छूटा था और फिर से इसी धंधे में लग गया। पिता विनय जैन का रेडिमेड कपड़ा का थोक का व्यापार है।
  • प्रतीक जैन. उम्र 26 साल: बाहुबली कॉलोनी निवासी प्रतीक का प्रतिष्ठित परिवार है। इनके पिता प्रदीप जैन का कपड़े का व्यापार है। प्रतीक दुबई सहित विदेश यात्राएं कर चुका है। पियूष के साथ प्रतीक भी बांग्लादेश में पकड़ा गया था।
  • मयंक सेठ, उम्र 32 साल : तिली वार्ड निवासी मयंक लंबे समय से क्रिकेट सट्‌टा खिला रहा है। उसे अक्सर निगम मार्केट की दुकानों पर देखा जा रहा था। वह विवाहित है। पिता राजेश सेठ व्यवसायी हैं।
  • मुकुल जैन, उम्र 29 साल: बाहुबली कॉलोनी निवासी मुकुल के पिता मुकेश जैन की केमिकल की फैक्टरी है। मुकुल अविवाहित है। पिता के साथ वह बिजनेस में भी हाथ बंटाता है। यह परिवार पूर्व विधायक सुधा जैन का करीबी है।

बड़ा बाजार: गली में चल रहा था आईपीएल सट्टा, दाे सटोरियों से पूछताछ
काेतवाली थानांतर्गत बड़ा बाजार की श्याम भंडार गली में स्थित एक घर में चल रहे आईपीएल क्रिकेट सट्टे पर शनिवार रात 9.30 बजे सीएसपी की टीम ने दबिश दी। मौके से दो लोगों को हिरासत में लिया है। सीएसपी अारडी भारद्वाज ने बताया कि विशाल पिता मुकेश जैन व अालाेक पिता लालचंद चाैरसिया काे क्रिकेट सट्टा खिलाते पकड़ा गया है। सट्टा विशाल के घर में चल रहा था। घर से एक डायरी व मोबाइल भी जब्त किया गया है। इसमें 15 लाख रुपए का हिसाब मिला है। दोनों से पूछताछ जारी है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


crime

Check Also

मध्यप्रदेश कांग्रेस की इस ऐतिहासिक हार के कारण, प्रदेश सरकार के भविष्य पर चर्चाएं शुरू

भोपाल। यह सच है कि मोदी और उनके राष्ट्रवाद के आगे देशभर में कोई नहीं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *