ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / पंजाब / खालसा स्थापना दिवस व जलियांवाला बाग नरसंहार को समर्पित कवि दरबार कराया

खालसा स्थापना दिवस व जलियांवाला बाग नरसंहार को समर्पित कवि दरबार कराया




शेरपुर | स्थानीय साहित्य सभा की ओर से खालसा स्थापना दिवस व जलियांवाला बाग नरसंहार को समर्पित कवि दरबार का आयोजन किया गया। इस दौरान डॉ. गुरचरण सिंह दिलबर ने गजल केहो जिहा इंसान हो गया, केसर सिंह ग्रेवाल ने गीत तंबू विचो गुरु जी बाहर कदो आए, कवि हाकम सिंह दीदारगढ़ ने अपनी हास्य कविता लओ सुन लओ नी भैणो केहा आया जमाना खोटा रचनाएं पेश की। पर्यावरण प्रेमी गुरदियाल शीतल ने दोनों पासे सिनीया तोपा हाकमां दे मन खोट नी सांभ ले घुगीए , नाहर सिंह मुबारकपुरी ने अपनी नव प्रकाशित कवि पुस्तक पर रचनाएं पेश की। गुरमीत सिंह सोही ने किस नू हाका मार के दर्द सुनाईए, कर्मइंदर सिंह लाली ने कविता दुनिया ते होन ठग्गीया ते चोरिया, मेवा सिंह हेडीके ने मिन्नी कहानी वहम भरम, महिंदरप्रताप ने गीत इक दिन भगत सराभा बोले, रणजीत सिंह कालाबूला ने गुरु गोबिंद सिंह के बारे में कविता दशमेश पिता ने दसिया सी किंझ रास्ता बनाईदा पेश की। इस मौके पर रणजीत सिंह कालाबूला, भरभूर सिंह, अमन बुर्जीया, मेसी, बिंदर कातरो, बिंदर कातरो आदि उपस्थित थे। (शर्मा)

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Check Also

महिलाअों की संख्या बढ़ती रही, पटियाला सीट से सिर्फ 4 बार पहुंचीं संसद

लोकसभा के मौजूदा चुनाव में पटियाला में महिला मतदाताअों की संख्या अब तक हुए चुनावों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *