ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / चर्बी घटाने और गर्दन-पीठ की मांसपेशियां मजबूत बनाने के लिए करें उष्ट्रासन

चर्बी घटाने और गर्दन-पीठ की मांसपेशियां मजबूत बनाने के लिए करें उष्ट्रासन



लाइफस्टाइल डेस्क. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को योग का एक और वीडियो ट्विटर पर शेयर किया। वीडियो में उष्ट्रासन करने का तरीका और फायदे बताए गए हैं। वीडियो की यह सीरिज 21 जून को मनाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का हिस्सा है। मोदी रोजाना एक वीडियो ट्विटर पर शेयर कर रहे हैं और लोगों से योग करने की अपील कर रहे हैं।

    • उष्ट्रासन एक संस्कृत का शब्द है, जिसका हिंदी में मतलब है ऊंट। इस आसन में शरीर की स्थिति ऊंट की पीठ की तरह उठी होने के कारण इसे उष्ट्रासन कहते हैं। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले वज्रासन में बैठ जाएं।
    • हाथों को घुटनों तक रखते हुए शरीर को सिर से पैर तक सीधा रखें। अब धीरे-धीरे वज्रासन से अर्ध-उष्ट्रासन की ओर बढ़ेंगे। इसके लिए सबसे पहले धीरे से घुटनों के बल खड़े हो जाएं।
    • अब अपने दोनों हाथों को कमर पर इस प्रकार रखें कि अंगुलियां जमीन की ओर हों। ध्यान रखें आपकी कोहनियां और कंधे समानान्तर हों। आपकी जांघे जमीन से बराबर 90 डिग्री पर हों। अब धीरे-धीरे सांस लेते हुए अपनी रीढ़ के निचले हिस्से की ओर से पीछे की ओर झुकाएं।
    • सिर को इतना झुकाएं कि आपको गर्दन की मांसपेशी पर खिंचाव महसूस हों। इस आसन को अर्ध-उष्ट्रासन कहते हैं। अब उष्ट्रासन की ओर बढ़ें, इसके लिए धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए दाहिने हाथ से दाईं एड़ी और बाएं हाथ से बाईं एड़ी को पकड़ें। ध्यान रखें कि पीछे झुकते समय गर्दन को झटका न दें।
    • सामान्य रूप से सांस लें और छोड़ें। इस स्थिति में 10-30 सेकंड तक रहें।
    • अब लंबी गहरी सांस लें और धीरे से गर्दन को सामान्य करते हुए कमर को सीधा करें।
    • वापस अपनी एड़ियों पर बैठते हुए वज्रासन की स्थिति में आ जाएं। अब वज्राजन में सामान्य रूप से सांस लें और छोड़ें।
  1. योग विशेषज्ञ डॉ. नीलोफर से जानिए इसके फायदे-

    • मांसपेशियां होती हैं मजबूत: उष्ट्रासन को नियमित रूप से करने पर गर्दन और पीठ की मांसपेशियां मजबूत होती हैं और दर्द दूर होता है।
    • रक्तसंचार बेहतर होता है : यह आसन सिर और सीने में रक्तसंचार को बेहतर बनाता है।
    • बढ़ती है रोशनी : इसे रोजाना करते पर रक्तसंचार बेहतर होने से आंखों की रोशनी बढ़ती है।
    • खत्म करता है कब्ज: उष्ट्रासन कब्ज की समस्या को भी दूर करता है। कब्ज शरीर में कई रोगों का कारण बनता है।
    • घटेगी पेट और कूल्हों की चर्बी : इसे आसन को करने पर पेट और कूल्हों पर दबाव पड़ता है जिससे इस हिस्से में मौजूद चर्बी घटती है।
    • सावधानी: हर्निया, गठिया, चक्कर आने की शिकायत होने पर इसे न करें। ऐसे हृदय रोग और उच्च रक्तचाप के रोगी इसे न करें। पेट में चोट होने के अलावा गर्भवती स्त्री इस आसन को न करें
    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      international yoga day pm narendra modi shares Ustrasana video know benefits of Ustrasana

Check Also

कभी गरीबों के लिए ईजाद किया गया था पिज्जा

हेल्थ डेस्क. पिज़्ज़ाआज दुनिया का सबसे लोकप्रिय फास्ट फूड है। इसका प्राचीनकालीन इतिहास करीब 2100 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *