ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / चीन में पाकिस्तानी लड़कियों की तस्करी, दोनों देशों की पुलिस ने दलालों पर नकेल कसी

चीन में पाकिस्तानी लड़कियों की तस्करी, दोनों देशों की पुलिस ने दलालों पर नकेल कसी



बीजिंग. चीन की पुलिस ने वहां मौजूद मैरिज सेंटरों और दलालों की खोज तेज कर दी है, जिन पर गैरकानूनी ढंग से पाकिस्तानी महिलाओं की चीनी पुरुष से शादी करवाने का आरोप है। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी परिवारों को बहला-फुसलाकर, झूठे वादे करके उनके घर की महिलाओं को चीन में लाया जाता है। इस पर लगाम कसने के लिए पुलिस ने सख्ती बढ़ाई है।

  1. मंगलवार को ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट में बताया गया कि पूर्वी चीन में स्थित हेज, शेन्डॉन्ग के स्थानीय प्रशासन ने कुछ मैरिज सेंटरों को बंद करवाया। उन पर पाकिस्तानी महिलाओं को चीनी पुरुषों से मिलवाने का आरोप था। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी महिलाओं के चीनी पुरुष से शादी करने के कई वीडियो भी मौजूद हैं। कई वीडियो को लेकर दावा भी किया गया है कि इनकी शूटिंग शेन्डॉन्ग में हुई, जो कि चीन का जाना-माना प्रदेश है।

  2. पिछले सप्ताह पाकिस्तानी चैनल एआरवाय न्यूज ने एक स्कैंडल का खुलासा किया, जिसमें कुछ चीनी पुरुषों को छह स्थानीय महिलाओं के साथ अलग-अलग कमरों में दिखाया गया। इनमें दो टीनेजर्स भी शामिल थीं। यह गैरकानूनी मैरिज सेंटर लाहौर के पूर्वी शहर में स्थित है। वॉइस ऑफ अमेरिका की रिपोर्ट के मुताबिक एआरवाय चैनल के क्रू सदस्यों ने स्थानीय पुलिस के साथ कुछ विदेशियों से भी बातचीत की ताकि इस बात का पता लग सके कि स्थानीय स्तर पर उन्हें यह तमाम सुविधाएं कौन मुहैया करवाता है?

  3. इन लोगों के अनुसार ऐसे दलाल पाकिस्तानी परिवारों को एक समझौते के अंतर्गत कुछ प्रलोभन देते हैं। वे परिजनों को बताते हैं कि चीनी पुरुष पाकिस्तान की नागरिकता लेना चाहता है, क्योंकि वे चीन-पाकिस्तान सिटीजनशिप कॉरिडोर प्रोजेक्ट के अंतर्गत इस देश में निवेश करने का इच्छुक है। दोनों देश इस प्रोजेक्ट में 60 बिलियन डॉलर का निवेश करने वाले हैं।सीपीईसी प्रोजेक्ट 2013 में शुरू हुआ था। इसके अंतर्गत कई चीनी लोग पाकिस्तान में किसी प्रोजेक्ट विशेष पर काम करने के लिए गए थे।

  4. रिपोर्ट के जरिए पाकिस्तानी महिलाओं की चीन में तस्करी का मामला सामने आया है। यह खुलासा ऐसे समय में हुआ है, जब चीन 25-27 अप्रैल के दौरान दूसरी बार बेल्ट एंड रोड फोरम (बीआरएफ) का आयोजन करने जा रहा है। चीन लगातार इस मामले में पाकिस्तान की मदद कर रहा है ताकि गैरकानूनी मैरिज ब्रोकर्स को पकड़ा जा सके। हालांकि दूतावास की ओर से मानव तस्करी और मानव अंग के व्यापार के आरोपों को नकारा गया।

  5. पाकिस्तान में स्थित चीनी दूतावास के अधिकारी ने कहा, हम चीन और पाकिस्तान के लोगों को आगाह करते हैं कि सतर्क रहें। ठगी का शिकार न हो। हम उम्मीद करते हैं कि जनता इस तरह के भ्रामक संदेशों पर भरोसा नहीं करेगी। चीन और पाकिस्तान की दोस्ती को बनाए रखते हुए मिलकर काम करेगी।

  6. मैरिज ब्रोकर ली के मुताबिक, चीनी व्यक्ति विदेशी दुल्हन चाहते हैं। मगर लोकल लेवल पर उन्हें ढूंढना मुश्किल होता है। कारण कि लिंग अनुपात में भारी अंतर है। चाइनीज सेंट्रल केबिनेट ने जनवरी 2017 में नेशनल पॉपुलेशन डेवलपमेंट ऑउटलाइन रिलीज की। इसके अंतर्गत 2015 में 100 महिलाओं के मुकाबले 113.5 पुरुष मौजूद थे। 2020 तक यह आंकड़ा 112 हो जाएगा।

  7. रिपोर्ट के मुताबिक चीन में कई एजेंसियों ने यह स्वीकार किया है कि वे चीनी पुरुषों को पाकिस्तानी महिलाओं से मिलवाते हैं। मगर अब ऐसा करने वालों की संख्या बेहद कम हो गई है। इसका कारण कि वीजा मिलना बहुत मुश्किल होता है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      प्रतीकात्मक फोटो।

Check Also

45 साल से बाघ का मास्क लगाकर घूम रहे योशीरो; दो बार अखबार बांटते हैं, डॉक्युमेंट्री भी बनी

टोक्यो. जापान की राजधानी टोक्यो में योशीरो हरदा (69) बीते45 साल से बाघ का मास्क …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *