ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / व्यापार / जकरबर्ग पर चेयरमैन पद छोड़ने का दबाव बढ़ा, कंपनी के विवादों से निवेशक नाराज

जकरबर्ग पर चेयरमैन पद छोड़ने का दबाव बढ़ा, कंपनी के विवादों से निवेशक नाराज



गैजेट डेस्क.फेसबुक के चेयरैमन और सीईओ मार्क जकरबर्ग पर कंपनी के निवेशकों की ओर से इस्तीफे का दबाव बढ़ गया है। न्यूज एजेंसी ने ब्रिटिश अखबार गॉर्जियन के हवाले से शनिवार को यह जानकारी दी। इसके मुताबिक फेसबुक की निवेशक कंपनी ट्रिलियम असेट मैनेजमेंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट जोनस क्रॉन ने जकरबर्ग से चेयरमैन का पद छोड़ने की मांग की है।

निवेशकों का यह रुख न्यूयॉर्क टाइम्स (एनवाईटी) की रिपोर्ट के बाद सामने आया। एनवाईटी की रिपोर्ट में बुधवार को कहा गया था कि फेसबुक ने प्रतिद्वंदी कंपनियों के खिलाफ लिखने के लिए पीआर फर्म डिफायनर्स को हायर किया था।

फेसबुक केचेयरमैन और सीईओ अलग होनेचाहिए: निवेशक

गॉर्जियन के मुताबिक जोनस का कहना है कि ‘फेसबुक एक कंपनी है और इसके चेयरमैन और सीईओ अलग-अलग होने चाहिए। हालांकि, डिफायनर्स विवाद पर जकरबर्ग का कहना है कि उन्हें इसके साथ कंपनी के काम की जानकारी नहीं थी। उन्होंने गुरुवार को कहा कि फेसबुक ने अब डिफायनर्स से कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर दिया है।

ब्रिटेन के पूर्व उप प्रधानमंत्री की नियुक्ति पर भी विवाद

  • फेसबुक ने हाल ही में ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री निक क्लेग को पॉलिसी एंड कम्युनिकेशन का ग्लोबल हेड नियुक्त किया है, जिस पर भी कई इन्वेस्टर्स कीनाराजगी है।
  • इन्वेस्टर नॉर्थ स्टार असेट मैनेजमेंट की चीफ एक्जीक्यूटिव जूली गुडरिज ने कहा कि “मुझे नहीं लगता कि आप इस पद पर ऐसे किसी व्यक्ति की नियुक्ति कर सकते हैं, जो बोर्ड और टॉप मैनेजमेंट के अधीन हो।” उन्होंने सवाल उठाया कि क्लेग को किस तरह की पावर मिल रही हैं?

चेयरमैन-सीईओ एक होने से कंपनी को नुकसान

  • फेसबुक इन्वेस्टर अर्जुन केपिटन की मैनेजिंग पार्टनर नताशा लैंब ने कहा कि कंपनी में चेयरमैन और सीईओ का पद एक ही व्यक्ति होने के पास होने से फेसबुक में होने वाली समस्याओं का ठीक तरह से समाधान नहीं हो सका।
  • उन्होंने आरोप लगाया कि कंपनी में दोनों पर जकरबर्ग के पास होने से कंपनी में होने वाली समस्याओं को मानने की बजाय उसे छिपाने की कोशिश की गई, जिससे कंपनी को नुकसान हुआ।
  • वहीं जूली गुडरिज ने भी कहा कि जब तक मार्क जकरबर्ग फेसबुक के चेयरमैन हैं, तब तक कंपनी के शेयर गिरते रहेंगे। उन्होंने कहा कि फेसबुक को कंट्रोल करने के लिए जकरबर्ग के पास पर्याप्त शक्ति है।

जकरबर्ग को चेयरमैन पद से हटाने का प्रस्ताव दायर

  • अक्टूबर में मार्क जकरबर्ग को चेयरमैन पद से हटाने का प्रस्ताव भी दायर किया जा चुका है। इस प्रस्ताव को ट्रिलियम असेट मैनेजमेंट ने दायर किया है, जिसे न्यूयॉर्क सिटी कंप्ट्रोलर के स्कॉट स्ट्रिंजर, पेनिसिल्वेनिया स्टेट ट्रेजरर के जोए टोर्सेला, इलिनियोस स्टेट ट्रेजरर के माइकल फ्रेरिच और रोड आइसलैंड स्टेट ट्रेजरर के सेठ मैगजिनर ने भी समर्थन दिया है।
  • जकरबर्ग को चेयरमैन पद से हटाने वाले प्रस्ताव को मई 2019 में होने वाली फेसबुक के शेयर होल्डर्स की सालाना मीटिंग में पेश किया जाएगा, जिस पर वोटिंग के बाद ही फैसला लिया जाएगा।

जकरबर्ग को क्यों हटाना चाहते हैं शेयर होल्डर्स?

  • इस बारे में स्टॉक स्ट्रिंजर ने एक बयान जारी कर जकरबर्ग को चेयरमैन पद से हटाने के कारण भी बताए थे। उन्होंने बताया था कि स्वतंत्र चेयरमैन नहीं होने से 2016 के अमेरिकी चुनावों में रूसी दखल बढ़ा और फेसबुक ने इस पर सही तरीके से काम नहीं किया।
  • कैम्ब्रिज एनालिटिका ने 8.7 करोड़ यूजर्स का डेटा चुराकर उसका गलत इस्तेमाल किया, लेकिन फेसबुक ने इस पर भी सही तरीके से काम नहीं किया।
  • उन्होंने ये भी कहा था कि फेसबुक ने स्मार्टफोन कंपनियों से यूजर्स का डेटा शेयर किया। साथ ही फेक न्यूज रोकने में भी नाकाम रहा।

पिछले साल भी लाया गया था उन्हें हटाने का प्रस्ताव

  • साल 2017 में भी मार्क जकरबर्ग को फेसबुक के बोर्ड मेंबर्स से हटाने का प्रस्ताव लाया गया था। उस वक्त 51% वोट इस प्रस्ताव के समर्थन में पड़े थे, लेकिन मार्क जकरबर्ग के पास मेजोरिटी शेयर थे, जिस वजह से ये प्रस्ताव गिर गया था।
  • दरअसल, फेसबुक में ड्युअल क्लास शेयर स्ट्रक्चर काम करता है, जिसमें क्लास-ए और क्लास-बी के शेयर होते हैं। इनमें से क्लास-बी शेयर होल्डर्स के पास क्लास-ए शेयरहोल्डर्स के मुकाबले 10 गुना ज्यादा वोटिंग पॉवर होती है।
  • मार्क जकरबर्ग के पास सबसे ज्यादा क्लास-बी के शेयर्स हैं और इसी वजह से पिछले साल लाया गया प्रस्ताव गिर गया था। लिहाजा अगले साल आने वाला प्रस्ताव भी गिर सकता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


facebook investors want mark zuckerberg to resign chairman post report

Check Also

देश का पहला बिटकॉइन एटीएम खुला, यूजर क्रिप्टोकरंसी की खरीद-बिक्री कर सकेंगे

बेंगलुरु. क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज यूनोकॉइन ने देश का पहला बिटकॉइन एटीएम शुरू किया है। इसके जरिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *