ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / जादूगरी रिकॉर्ड करने के लिए खुद को पेड़ से बांधा, दो साल बाद वहीं बंधी मिली युवक की लाश

जादूगरी रिकॉर्ड करने के लिए खुद को पेड़ से बांधा, दो साल बाद वहीं बंधी मिली युवक की लाश



सेंट पीटर्सबर्ग. मॉस्को पुलिस को हाल ही में शहर से 80 किमी दूर वीरान जंगल में पेड़ से बंधा एक नरकंकाल मिला। जांच में सामने आया कि यह कंकाल इवान क्लूशारेव का है, जिसे आखिरी बार मॉस्को में ही दो साल पहले देखा गया था। हालांकि, इसके बाद न तो किसी को इवान की खोज खबर थी और न ही पुलिस उसे ढूंढ पाई थी।

रूसी पुलिस का कहना है कि इवान हाइकिंग और सर्वाइवल स्किल्स में अनुभवी था। इसी के बहाने वो ऐसे करतब दिखाना चाहता था, जो उसे दूसरों के सामने साबित कर दे। पुलिस के मुताबिक, इसी कोशिश में उसने शतूरा के सूनसान जंगलों में खुद को चेन और ताले के जरिए पेड़ से बांधा होगा और बाद में उसे खोलने में असफल रहा होगा। चूंकि जिस जगह इवान की लाश मिली वहां से से कोई नहीं गुजरता, इसलिए किसी को उसका पता नहीं चल पाया।

पेड़ के सामने ही रिकॉर्डिंग के लिए लगा था कैमरा
पुलिस को घटनास्थल के सामने ही एक टेंट और पेड़ के सामने लगा एक कैमरा भी मिला। माना जा रहा है कि इवान खुद की जादूगरी को रिकॉर्ड कर के दिखाना चाहता था। इसके अलावा 5 हथकड़ियां, कुछ लोहे की चेन, ताले और किताबें भी मिलीं।रूस की इनवेस्टिगेटिव कमेटी ने बताया कि यह तो तय है कि इवान उस ग्रुप का हिस्सा था जो कठिन परिस्थितियों में अपनी सर्वाइवल स्किल्स का परीक्षण करते हैं। हालांकि, युवक की मौत का कारण फोरेंसिक जांच में ही सामने आने की संभावना है। फिलहाल पुलिस इस मामले में किसी नतीजे में न पहुंचकर कैमरे की मेमोरी और उसके कंप्यूटर की जांच कर रही है।

शव को ढूंढने वाले स्थानीय निवासी एडुअर्ड कारपोव के मुताबिक, सबसे पहले उन्हें पेड़ से बंधी हुडी (शर्ट में लगी टोपी) में इवान की खोपड़ी दिखाई दी। उसका कंकाल पेड़ की पत्तियों से ढका था। अधिकारियों के मुताबिक, इवान का नाम लापता लोगों की सूची में भी था, लेकिन इससे पहले शतूरा के जंगल में उसे ढूंढने की सारी कोशिशें नाकाम हो चुकी थीं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Skeleton of hiker handcuffed to a tree found two years after he went missing in Russia


Skeleton of hiker handcuffed to a tree found two years after he went missing in Russia


Skeleton of hiker handcuffed to a tree found two years after he went missing in Russia


Skeleton of hiker handcuffed to a tree found two years after he went missing in Russia

Check Also

45 साल से बाघ का मास्क लगाकर घूम रहे योशीरो; दो बार अखबार बांटते हैं, डॉक्युमेंट्री भी बनी

टोक्यो. जापान की राजधानी टोक्यो में योशीरो हरदा (69) बीते45 साल से बाघ का मास्क …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *