ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / हरियाणा / जून में मिलेंगी छह खेल नर्सरियां, एक स्कूल में चल पाएंगी सिर्फ दो

जून में मिलेंगी छह खेल नर्सरियां, एक स्कूल में चल पाएंगी सिर्फ दो




फरवरी-2018 से चल रहीं सात खेल नर्सरियों के साथ छह नई खेल नर्सरियां मिलने वाली हैं। इसके लिए आवेदन 28 फरवरी तक मांगे गए थे, लेकिन आचार संहिता लगने से प्रक्रिया पर ब्रेक लग गया। इस कारण मई में चुनाव प्रक्रिया के बाद जून में सात नई खेल नर्सरियां मिल पाएंगी। इससे पहले खेल विभाग ने खेल नर्सरियों में दिए जा रहे प्रशिक्षण में गुणवत्ता के लिए जारी नए आदेशानुसार एक स्कूल में दो ही खेल नर्सरियां चलाई जा सकेंगी। इससे जिले में चल रहीं सात व प्रस्तावित छह नई खेल नर्सरियों को दिक्कत नहीं होगी। चूंकि यहां पहले से एक स्कूल में नर्सरी की संख्या दो या एक ही है।

जिले में गुर्जर कन्या स्कूल देवधर में एथलेटिक व कबड्डी, शादीपुर गुरुकुल में कुश्ती, हुडा सेक्टर-18 के संत विवेकानंद लोटस वैली पब्लिक स्कूल में स्वीमिंग, श्री सत्य साईं स्कूल में फुटबॉल, सरोजनी कॉलोनी के एमएलएन स्कूल में हॉकी और डीपीएस में फुटबॉल की नर्सरी चल रही हैं। वहीं, 28 फरवरी तक नई खेल नर्सरियों के लिए पांच स्कूलों ने आवेदन किए।

इनमें रादौर के हरिओम शिव ओम स्कूल से लड़कों की रेस्लिंग व लड़कियों की वॉलीबॉल, फतेहपुर के ज्ञानदीप पब्लिक स्कूल से लड़कियों की वाॅलीबॉल, फतेहपुर के राजकीय उच्च स्कूल से लड़कियों की रेस्लिंग, हुडा सेक्टर-18 के संत विवेकानंद लाेट्स वैली पब्लिक स्कूल से लड़कों की फुटबॉल, बिलासपुर के जानकीजी पब्लिक स्कूल से कबड्डी खेल नर्सरी के लिए आवेदन किए गए। इन छह नई प्रस्तावित खेल नर्सरियों का डीएसओ राजेंद्र पाल गुप्ता द्वारा फिजिकल वेरीफिकेशन कर फाइनल मुहर के लिए प्रपोजल फाइल निदेशालय भेज चुके हैं। लेकिन आचार संहिता के चलते ब्रेक लग गई है। अब जून माह में सात नई खेल नर्सरियां मिल पाएंगी।

ये चयन प्रक्रिया: खेल नर्सरियों 25 सीटों पर खिलाड़ियाें के चयन के लिए 7-8 इवेंट्स में 25 अंकों ट्रॉयल होता है। कम से कम 16 अंक प्राप्त करने अनिवार्य हैं। मेरिट आधार पर खिलाड़ी चयनित होते हैं। यह ट्रॉयल पुरानी नर्सरियों में रिक्त सीटों सहित प्रस्तावित नई खेल नर्सरियों की 25-25 सीटों के लिए होंगे।

<img src="images/p2.png" नई खेल नर्सरियां खोलने की प्रक्रिया चुनाव बाद पूरी होगी। निदेशालय से एक स्कूल में दो नर्सरियां ही खोलने के आदेश हैं। जिले में स्कूलों में चल रही व प्रस्तावित नर्सरियों की संख्या पहले ही दो या एक ही है। राजेंद्र पाल गुप्ता, डीएसओ यमुनानगर।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Check Also

मां और पत्नी के साथ भरा दीपेंद्र ने नामांकन, तो सीएम और भाजपा नेताओं ने भरवाया अरविंद का पर्चा

रोहतक। हरियाणा की सबसे चर्चित रोहतक सीट पर सोमवार को भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *