ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / खेल / टी-20 में ना कोई फेवरेट होता है, ना ही अंडरडॉग

टी-20 में ना कोई फेवरेट होता है, ना ही अंडरडॉग



आईपीएल शुरू होने से पहले ही पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और भारतीय कप्तान विराट कोहली के बयानों ने हलचल मचा दी है। गंभीर ने कुछ दिन पहले कहा था कि विराट कोहली ने बतौर कप्तान एक बार भी आईपीएल नहीं जीता है, फिर भी वे काफी भाग्यशाली हैं जो उनकी कप्तानी बरकरार है। विराट कोहली ने भी अपने ही अंदाज में जवाब दिया कि- कोई उनके बारे में क्या बोलता है, इस पर वे ध्यान नहीं देते।

टेस्ट-वनडे में फिसड्डी रही विंडीज का टी-20 में प्रदर्शन शानदार

अब आईपीएल शुरू हुआ है तो ऐसे कुछ बयान आ ही सकते हैं। खैर, इस बार की दावेदार की बात करें तो टी-20 में कोई भी फेवरेट नहीं होता और कोई भी अंडरडॉग नहीं होता। इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि अब तक 6 बार आईसीसी टी-20 वर्ल्ड चैम्पियनशिप हो चुकी है। सिर्फ एक टीम ऐसी है, जिसने 2 बार खिताब जीता है- वेस्टइंडीज। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट और वनडे सीरीज जीतने से पहले वेस्टइंडीज संघर्ष करती ही नजर आ रही थी। फिर भी टी-20 में उन्होंने दमदार प्रदर्शन किया।

सारे कयासों को धता बताते हुए राजस्थाना रॉयल्स ने जीता था आईपीएल-1 का खिताब

टी-20 किस कदर अनिश्चय से भरा है, इसका उदाहरण आईपीएल में भी है। पहले संस्करण में तमाम टीमें फेवरेट मानी जा रही थीं, लेकिन खिताब जीता राजस्थान रॉयल्स ने। शेन वॉर्न की करिश्माई कप्तानी की उसमें बड़ी भूमिका थी। सबसे मजबूत मानी जा रही डेक्कन चार्जर्स तो टेबल में आखिरी पायदान पर रही थी। फिर अगले सीजन में जब डेक्कन चार्जर्स को खारिज कर दिया तो वे चैम्पियन बनकर उभरे।

2 साल के बैन के बाद खेलने उतरी चेन्नई ने ट्रॉफी जीती थी

इसी तरह चेन्नई सुपरकिंग्स मजबूत टीम तो रही और खिताब भी जीता, लेकिन जब पिछले साल वे 2 साल के प्रतिबंध के बाद वापस आए तो कम ही उम्मीद थी कि वे चैम्पियन बन जाएंगे। टीम के अधिकतर खिलाड़ियों की उम्र 30 साल से ज्यादा थी और कई आउट ऑफ फॉर्म भी थे। फिर भी टीम चैम्पियन बनी।

आरसीबी के खिताब जीतने से विराट की उपलब्धि बढ़ेगी

वहीं, विराट कोहली की कप्तानी में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने कई सीजन में फेवरेट को तौर पर शुरुआत की, लेकिन अब तक खिताब से दूर ही हैं, जबकि उनके पास विराट के अलावा क्रिस गेल, एबी डीविलियर्स, केएल राहुल, मिशेल स्टार्क, युवराज सिंह, जहीर खान, डेनियल विटोरी जैसे खिलाड़ी रहे। साफ है कि बड़े नामों का होना सफलता की गारंटी नहीं होता। टीम संयोजन सबसे अहम होता है। आखिरी में विराट कोहली की ही बात। वे विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज और सफल कप्तान हैं। आईपीएल ना जीत पाना उनके महत्व को कम नहीं करता, पर ये खिताब उनकी उपलब्धियों को बढ़ा जरूर सकता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


शेन वॉर्न की अगुआई में राजस्थान रॉयल्स ने 2008 में आईपीएल के पहले संस्करण का खिताब जीता था।


आईपीएल-2019 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु अपना पहला मुकाबला हार गए।

Check Also

विराट और डिविलियर्स का विकेट लेना मेरे करियर की बड़ी सफलता : श्रेयस गोपाल

जयपुर. राजस्थान रॉयल्स ने आईपीएल के 14वें मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को सात विकेट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *