ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / दिव्यांग दोस्त पढ़ सके इसलिए वह 6 साल से हर रोज उसे पीठ पर क्लास में ले जा रहा है

दिव्यांग दोस्त पढ़ सके इसलिए वह 6 साल से हर रोज उसे पीठ पर क्लास में ले जा रहा है



बीजिंग. चीन के सिचुआन प्रांत के एक स्कूल केदो बच्चों की दोस्ती इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुईहै। दरअसल, एक दिव्यांग बच्चा अपने दोस्त की वजह से पिछले छह साल से बिना किसी समस्या के स्कूल जा रहा है। उसका दोस्त उसे अपनी पीठ पर क्लास ही नहीं ले जाता बल्कि लंच से लेकर दो क्लास के बीच जाने-आने में मदद करता है।

दिव्यांग बच्चे का नाम झांग झे है और उसके दोस्त शू बिंगयांग है। बिंगयांग झे की हरसंभव मदद करता है फिर धूप हो या बारिश का वक्त। उसे स्कूल ले जाना नहीं भूलता। दोनों की दोस्ती को चीन के सोशल मीडिया पर काफी सराहना हो रही है।

झे ने कहा- मेरे पास शब्द नहीं हैं:शू बिंगयांग की कदकाठी काफी मजबूत है। वह कहता है कि झे को उठाने में मुझे कोई दिक्कत नहीं होती। इसकी वजह है कि मेरा वजह 40 किग्रा है, जबकि झे का 25 किग्रा है। उधर, झे का कहना है कि मैं उसकी इस मदद को कभी नहीं भूल सकता है। वह हर दिन मेरा साथ पढ़ता है। मुझसे बात करता है। मेरा साथ खेलता है। उसके लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। दोनों 6वीं कक्षा में पढ़ते हैं।

जब 4 साल का था तब से चल नहीं पाता शू: झांग जब चार साल का था तब उसके पैरों में दुर्लभ बीमारी हुई थी। इसे रैगडॉल डिसीज (मांसपेशियों से संबंधित बीमारी) भी कहते हैं। इसके बाद से वह चलने में असमर्थ हो गया था। झांग बताता है कि जब वह फर्स्ट ग्रेड में था तब बिंगयांग ने मदद की पेशकश की थी। तभी से यह सिलसिला जारी है। स्कूल के शिक्षक ने कहा कि बिंगयांग की तारीफ होनी चाहिए। हम बड़ों को भी बिंगयांग से सीखने की जरूरत है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


दोस्त को पीठ पर लेकर स्कूल जाता शू बिंगयांग।


schoolboy has carried his disabled best friend to class every day for six years

Check Also

जेल में पुलिस के साथ भिड़ंत में 29 कैदियों की मौत, मानवाधिकार संगठनों ने कहा- यह नरसंहार है

कराकस. वेनेजुएला के अकारिगुआ शहर में शनिवार को जेल में पुलिस और कैदियों के बीच …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *