ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / दुनिया की पहली कॉमर्शियल ड्रोन डिलीवरी सर्विस शुरू, 18 महीने ट्रायल के बाद मंजूरी

दुनिया की पहली कॉमर्शियल ड्रोन डिलीवरी सर्विस शुरू, 18 महीने ट्रायल के बाद मंजूरी



कैनबरा. ड्रोन के जरिए सामान की डिलीवरी की कोशिश में कई कंपनियां लगी हैं। इसके हजारों ट्रायल भी हुए। लेकिन दुनिया में पहली कॉमर्शियल ड्रोन डिलीवरी सर्विस शुरू करने का श्रेय गूगल को मिला है। अमेरिकी कंपनी को ऑस्ट्रेलिया की राजधानी में इस सर्विस की इजाजत मिल गई है।
गूगल विंग कैनबरा में करीब 100 घरों को ड्रोन के जरिए खाना, कॉफी और दवाओं की डिलीवरी करेगी। गूगल 2014 से ही इसकी टेस्टिंग कर रही थी। डेढ़ साल से इसका ट्रायल भी चल रहा था। ट्रायल के दौरान कंपनी ने 3,000 पार्सल की डिलीवरी की।

  1. शुरुआत में लोगों ने ड्रोन से बहुत ज्यादा आवाज आने की शिकायतें आईं। इसके खिलाफ सोशल मीडिया पर मुहिम भी चलाई गई। इसके बाद गूगल ने इसमें कई सुधार किए। तब जाकर इसकी कॉमर्शियल सर्विस की अनुमति दी गई है।

  2. गूगल ने बयान जारी कर कहा कि लोगों के फीडबैक से सिस्टम को सुधारने में काफी मदद मिली है। उम्मीद है कि हम इसे समय के साथ और बेहतर बनाएंगे और यह सर्विस बड़े पैमाने पर अन्य शहरों में भी शुरू होगी।

  3. गूगल ने बयान जारी कर कहा कि लोगों के फीडबैक से सिस्टम को सुधारने में काफी मदद मिली है। उम्मीद है कि हम इसे समय के साथ और बेहतर बनाएंगे और यह सर्विस बड़े पैमाने पर अन्य शहरों में भी शुरू होगी।

  4. गूगल का मानना है कि सिर्फ कैनबरा में ही ड्रोन डिलीवरी सर्विस 4 करोड़ ऑस्ट्रेलियन डॉलर (करीब 200 करोड़ रुपए) का बिजनेस कंपनी को देगी। एक अनुमान के मुताबिक साल 2030 तक ऑस्ट्रेलिया में 25% डिलीवरी ड्रोन के जरिए होगी।

  5. अमेजन और अलीबाबा भी ड्रोन डिलीवरी सर्विस पर काम कर रही हैं। इन कंपनियों ने ब्रिटेन, अमेरिका और चीन में इसके कई ट्रायल भी आयोजित किए हैं। लेकिन इन्हें अब तक इजाजत नहीं मिली है।

  6. ड्रोन सर्विस के लिए कई नियम बनाए गए हैं

    • ड्रोन सड़कों या भीड़भाड़ वाले इलाकों के ऊपर से नहीं उड़ सकता है।
    • सोमवार से शनिवार तक सुबह 7 बजे से रात 8 बजे तक सर्विस उपलब्ध रहेगी।
    • रविवार को यह सर्विससुबह 8 से रात 8 बजे तक रहेगी।
  7. ड्रोन में खरीदार के घर का पता जीपीएस के जरिए फीड किया जाता है। पार्सल स्ट्रिंग के जरिए ड्रोन से जुड़ा होता। ड्रोन खरीदार के गार्डन के ऊपर जाकर पार्सल को ड्रॉप कर ड्रोन वापस चला जाता है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Google Wing launches first home delivery drone service in Australia

Check Also

45 साल से बाघ का मास्क लगाकर घूम रहे योशीरो; दो बार अखबार बांटते हैं, डॉक्युमेंट्री भी बनी

टोक्यो. जापान की राजधानी टोक्यो में योशीरो हरदा (69) बीते45 साल से बाघ का मास्क …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *