ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / राजस्थान / नए सिरे से होगी पहलू खान के बेटों के खिलाफ जांच, कोर्ट ने पुलिस को दी इजाजत

नए सिरे से होगी पहलू खान के बेटों के खिलाफ जांच, कोर्ट ने पुलिस को दी इजाजत



अलवर.बहरोडएसीजेएम कोर्टने गैरकानूनी तरीके से गोवंश की ढुलाई के मामले में पहलू खान के दो बेटों और एक ट्रक ऑपरेटर के खिलाफ पुलिस को आगे जांच करने की अनुमति दे दी है।मॉब लिंचिंग में मारे गए पहलू के बेटे इरशाद ने पुलिस महानिदेशक सेनए सिरे से जांच की मांग की थी। पुलिस मुख्यालय से मिलेनिर्देश पर पुलिस ने कोर्ट में नए सिरे से जांच की इजाजत मांगी थी।सहायक लोक अभियोजक प्रदीप अग्रवाल ने बताया कि बहरोड के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एसीजेएम) ने इस बारे में दायर प्रार्थनापत्र को स्वीकार कर लिया है।

ट्रक चालक का दावा-घटना से पहले ही बेच दिया था वाहन

अलवर के पुलिस अधीक्षक पारिस अनिल देशमुख ने बताया कि पुलिस ने एक प्रार्थना पत्र अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में शनिवार को पेश किया था।इसमें मामले की जांच को आगे बढ़ाने के लिये स्वीकृति मांगी गई। उन्होंने बताया कि मामले के कुछ पहलुओं पर जांच आगे बढ़ाई जाएगी। खान के बेटे ने बताया कि वह अलवर के टपूकड़ा में जानवर बेचने जा रहा था, जबकि रिपोर्ट में हरियाणा जाना दर्शाया गया।ट्रक चालक ने दावा किया कि उसने अपना वाहन घटना के घटित होने से पूर्व किसी अन्य को बेच दिया था।

पुलिस ने 24 मई को दायर की थी चार्जशीट

पुलिस ने पहलू खान के दोनों बेटे इरशाद और आरिफ और ट्रक ऑपरेटर खान मोहम्मद के खिलाफ इस साल 24 मई में चार्जशीट दाखिल की थी।सभी आरोपियों को राजस्थान गोवंश पशु अधिनियम, 1995 की विभिन्न धाराओं में आरोपी माना गया है। पहलू खान का नाम आरोपपत्र से हटा दिया गया है क्योंकि उसकी मृत्यु हो चुकी है।पहले खबरें थीं कि इस चार्जशीट में पहलू खान को भी गो तस्करी का आरोपी बनाया गया है। हालांकि, बाद में पुलिस ने साफ कर दिया कि इस चार्जशीट में पहलू खान का नाम शामिल था। लेकिन, मौत के बाद पहलू का नाम हटा दिया गया।

गहलोत ने भी दोबारा जांच की बात कही थी

चार्जशीट दायर होने परमुख्यमंत्रीगहलोत ने कहा था कि मामले की जांच 2017-18 में पिछली सरकार के अंतर्गत हुई थी। आरिफ, इरशाद और खान मोहम्मद का नाम दिसंबर 2018 में चार्जशीट दाखिल करते वक्त नहीं था। हालांकि, हमारी सरकार देखेगी कि इस मामले में जांच पूर्वनिधारित इरादे से तो नहीं की गई। इससे पहले गहलोत ने कहा था कि जांच भाजपा सरकार में हुई है, अब इसमें कोई गड़बड़ी मिली तो दोबारा जांच होगी।

अप्रैल 2017 में पहलू खान की हुई थी मौत

अलवर में जयपुर-दिल्ली राजमार्ग पर 1 अप्रैल 2017 को भीड़ ने गो तस्करी के शक में पहलू खान को पीटा था। खान अपने बेटों के साथ जयपुर के एक मेले से मवेशियों को खरीद कर हरियाणा के नूह स्थित अपने घर ला रहा था। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। इस मामले में क्रॉस एफआईआर दर्ज हुई हैं। एक एफआईआर में पहलू और उसके परिवार पर हमला करने वाली भीड़ को आरोपी बनाया गया है। वहीं, दूसरी एफआईआर पहलू खान और उसके परिवार के खिलाफ की गई है। इस एफआईआर में पहलू और उसके परिवार पर गो तस्करी का आरोप लगाया गया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


2017 में गो तस्करी के शक में भीड़ ने पहलू खान की हत्या कर दी थी। -फाइल फोटो

Check Also

रीजेंट और एक्सरे फिल्म की सप्लाई रुकने से रोगी परेशान

जनाना अस्पताल की लैब में एक्स-रे फिल्म और रीजेंट (कैमिकल) नहीं होने से डायबिटीज जैसी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *