ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / नशे की लत और रात में घूमने के लिए तीन सगे भाई चुराते थे बाइक, पुलिस ने 10 बाइक जब्त की

नशे की लत और रात में घूमने के लिए तीन सगे भाई चुराते थे बाइक, पुलिस ने 10 बाइक जब्त की



इंदाैर. क्राइम ब्रांच और एमजी रोड पुलिस ने एेसे शातिर बदमाश काे पकड़ा है जाे अपने दाे भाइयाें के साथा मिलकर चाेरी की वारदात काे अंजाम देता था। ये बदमाश नशे के शाैक अाैर रात में घूमने के लिए सूनी गली से बाइक चुराते थे। इसके बाद ये गाड़ी काे कम दाम में बेच देते थे। पुलिस ने इनके पास से 8 लाख रुपए की कीमत की 10 बाइक जब्त की है।

एडिशनल एसपी क्राइम ब्रांच अमरेंद्र सिंह ने बताया कि मुखबीर से सूचना मिली थी कि एमजी रोड थाना क्षेत्र में कुछ लड़के चोरी के दोपहिया वाहनों को बेचने की फिराक में घूम रहे हैं। सूचना पर टीम ने एमजी रोड पुलिस के साथ मिलकर छानबीन की तो पत्थर गोदाम कलाली के सामने तीन संदेही नजर आए। पुलिस ने घेरांबदी कर उन्हें पकड़कर पूछताछ की तो उन्हांेने अपना नाम प्रवीण उर्फ टिंकू, भूपेंद्र उर्फ बंटी और यशवंत उर्फ गोलू तीनों निवासी धोबी घाट कर्बला मैदान के पास इंदौर का होना बताया।

पुलिस ने आराेपियों के पास से 10 बाइक बरामद की।

पुलिस ने इनके पास से मिली एक्टिवा के दस्तावेज मांगे तो ये गाड़ी छोड़कर भागने लगे। पुलिस ने पकड़कर इनसे पूछताछ की तो पता चला कि उक्त वाहन चोरी का है, जिसे बेचने के लिए वह ग्राहक ढूढ़ रहे थे। आरोपी यशवंत ने बताया कि उन्होंने अलग-अलग क्षेत्र से कई वाहन चुराए हैं।

उसने बताया कि वे तीनों सगे भाई हैं और नशे का शौक पूरा करने और रात में घूमने के लिए वाहन चोरी करते थे। रात में घूमने के दौरान जहां में भी एकांत में दो पहिया वाहन दिख जाता है, उनके पास मौजूद पुरानी चाबी से ताला खोलकर रफूचक्कर हो जाते थे। यदि गाड़ी का पेट्रोल खत्म हो जाता तो वे उसे वहीं छोड़ देते थे। यदि गाड़ी का पेट्रोल घर से दूर खत्म होता तो वे आसपास से दूसरी गाड़ी चोरी कर लेते थे और घर आने के थोड़ी दूर पहले उसे छोड़ देते थे।

अगले दिन भूपेंद्र उर्फ बंटी उस स्थान पर जाकर देखता था कि बाइक खड़ी है कि नहीं। यदि गाड़ी वहां मिल जाती तो वे उसे बेचने के लिए ग्राहक खोजने लगते थे। तीनों भाइयों में यशवंत ही वाहन चोरी करने का प्लान बनाता था व अन्य दोनों भाई उसकी मदद करते थे। तीनों आरोपी कम पढ़े-लिखे हैं और मूलतः खंडवा के रहने वाले हैं। इनके पिता 10 साल पहले इन्हें लेकर इंदौर आए थे, लेकिन कुछ साल बाद उनकी मौत हो गई। परिवार को पालने मां फल का ठेला लगाती है, जिसमें ये लोग भी हाथ बंटाते हैं।

आमदनी कम होने के कारण नशा करने व घूमने के लिए पर्याप्त रुपया नहीं मिलने के कारण तीनों भाई रात मे बाइक चोरी करने लगे। आरोपी यशवंत पहले भी थाना बड़वाह में वाहन चोरी में पकड़ा जा चुका है। पूछताछ में आरोपियों के पास से पुलिस ने 10 चोरी की गाड़ियां बरामद की, जिसकी कीमत 8 लाख रुपए आंकी गई है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


mp news indore drunkard brothers turned bike thieves police confiscated 10 bikes

Check Also

नामांकन प्रक्रिया प्रारंभ, तीन निर्दलीयों ने पेश की अपनी दावेदारी

इंदौर. इंदौर लोकसभा सीट के लिए नामांकन प्रक्रिया सोमवार से प्रारंभ हो गई। यह प्रक्रिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *