ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / पेंशन के लिए हाईकोर्ट पहुंचे आईएसआई के पूर्व प्रमुख, रॉ के अफसर के साथ मिलकर लिखी है किताब

पेंशन के लिए हाईकोर्ट पहुंचे आईएसआई के पूर्व प्रमुख, रॉ के अफसर के साथ मिलकर लिखी है किताब



इस्लामाबाद. पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख असद दुर्रानी ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट से अपील की है कि उनकी पेंशन और अन्य सुविधाएं बहाल की जाएं। दरअसल, दुर्रानी ने भारत की खुफिया एजेंसी रॉ के प्रमुख रहे एएस दुलत के साथ मिलकर एक किताब ‘स्पाई क्रॉनिकल’ लिखी थी। इसमें 2008 मुंबई हमलों के अलावा ओसामा बिन लादेन और कुलभूषण जाधव जैसे मामलों को लेकर पाक सरकार को कटघरे में खड़ा किया गया है।

  1. पाक सेना ने उन पर मिल्ट्री कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन का आरोप लगाकर कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का आदेश दिया था। दोषी पाए जाने पर उनकी पेंशन और अन्य भत्ते रोकने के साथ विदेश यात्रा को भी पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है।

  2. दुर्रानी अगस्त 1990 से लेकर 92 तक पाक खुफिया एजेंसी के प्रमुख रहे थे। सेना की सिफारिश पर पाक सरकार ने उनके खिलाफ कार्रवाई की थी। पाक सेना का मानना है कि दुर्रानी की किताब से देश की छवि को धक्का लगा।

  3. दुर्रानी ने अपनी किताब ‘स्पाई क्रॉनिकल’ में कश्मीर समस्या, करगिल युद्ध, ओसामा बिन लादेन के मारे जाने, कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी, हाफिज सईद, बुरहान वाणी समेत कई मुद्दों पर बात की है। इस किताब में यह भी दावा किया गया है कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से आईएसआई खुश थी।

  4. दुर्रानी का दावा है कि पाक के तत्कालीन प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी अमेरिका के ओसामा ऑपरेशन के बारे में पूरी जानकारी थी। उनका कहना है कि ओसामा मामले में पाक सरकार और अमेरिका के बीच एक डील हुई थी। उसके तहत ही अमेरिकी कमांडोज ने एबटाबाद में जाकर अंतरराष्ट्रीय आतंकी को मार गिराया।

  5. मीडिया से बातचीत में दुर्रानी ने खुद को पाक साफ बताया। उनका कहना है कि दुलत के साथ मिलकर किताब लिखने का मकसद अपने अनुभवों को साझा करना था। इसमें देश से विश्वासघात जैसी कोई बात नहीं है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      असद दुर्रानी

Check Also

जेल में पुलिस के साथ भिड़ंत में 29 कैदियों की मौत, मानवाधिकार संगठनों ने कहा- यह नरसंहार है

कराकस. वेनेजुएला के अकारिगुआ शहर में शनिवार को जेल में पुलिस और कैदियों के बीच …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *