ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / बच्चों को मोटापे से बचाने के लिए 2 साल की उम्र से ही वजन नापें

बच्चों को मोटापे से बचाने के लिए 2 साल की उम्र से ही वजन नापें



हेल्थ डेस्क. बच्चे को मोटापे से बचाना चाहते हैं तो उनका वजन दोसाल की उम्र से ही चेक करें। बच्चों में बढ़ते मोटापे पर ऑक्सफोर्ड और मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने चिंता जताई है। शोधकर्ताओं का कहना है कि आमतौर पर उनका वजन 11 साल की उम्र के बाद चेक किया जाता है, लेकिन तब तक देर हो चुकी होती है। इस दौरान हर पांच में एक बच्चा ओवरवेट होता है।

  1. मैनचेस्टर और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर सेकराए गए शोध के मुताबिक, दोसाल की उम्र से ही हर साल बच्चे का वजन चेक करना चाहिए ताकि मोटापे की शुरुआत होने पर ही इसे रोका जा सके।

  2. शोध के दौरान दुनियाभर के 7 लाख 50 हजार बच्चों के शारीरिक विकास के आंकड़ेलिए गए। इसमें पता चला कि बच्चों के स्कूल जाने की उम्र से पहले उनका वजन जान लेना उन्हें मोटापे से बचा सकता है। शोधकर्ता डॉ. हीदर रॉबिंसन कहते हैं इसे बीएमआई की मदद से समझा जा सकता है।

  3. लंदन में 11 साल की उम्र के करीब पांच लाख बच्चे मोटापे के शिकार हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि इनमें आगे चलकरमोटापे की वजह से हृदय रोग, डायबिटीज और कैंसर का खतरा बढ़ सकता है।

  4. शोधकर्ता डॉ. हीदर रॉबिंसन के मुताबिक, 2-5 साल के बीच हर बच्चे की ग्रोथ अलग-अलग हो सकती है, लेकिन विकास कितना बेहतर हो रहा है यह तभी बताया जा सकता है जब साल दर साल उनके वजन का आंकड़ा सामने होगा। इसलिए जितनी जल्दी हो सकते उनका वजन चेक करें।

  5. शोध के अनुसार, स्कूल जाने तक बच्चे के वजन को देखकर यह बताया जा सकता है भविष्य में मोटापे की कितनी आशंका है। लंदन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में 2000 के बाद से मोटापे के मामले तेजी से बढ़े हैं।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      प्रतीकात्मक चित्र

Check Also

9 सालों में एचआईवी से होने वाली मौतों का आंकड़ा 16 फीसदी तक गिरा, संयुक्त राष्ट्र ने जारी की रिपोर्ट

हेल्थ डेस्क. दुनियाभर में पिछले साल एचआईवी के 17 लाख नए मामले बढ़े लेकिन इससे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *