ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / बिना बाजुओं-पैरों के जन्मीं एमी ब्रूक्स को मां-बाप ने भी छोड़ दिया था, अब मोटिवेशनल स्पीकर हैं

बिना बाजुओं-पैरों के जन्मीं एमी ब्रूक्स को मां-बाप ने भी छोड़ दिया था, अब मोटिवेशनल स्पीकर हैं



वॉशिंगटन. अमेरिका की रहने वाली 37 साल की एमी ब्रूक्स का जन्म बिना बाजुओं और बिना पैरों के हुआ। इसे लेकर उनके माता-पिता ने उन्हें छोड़ दिया। तब पिट्सबर्ग के ब्रूक्स परिवार ने उन्हें गोद लिया। बड़े होने पर उन्होंने अपनी शारीरिक अक्षमता को अपनी ताकत बनाया। अब एमी कुकिंग से लेकर सिलाई, फोटोग्राफी और डिजाइनिंग तक कर रही हैं। इतना ही नहीं वे मोटिवेशनल स्पीकर बनकर लोगों को प्रेरित कर रही हैं।

मुंह, ठोढ़ी और कंधे की मदद से तस्वीरें खींचती हूं
एमी अपना यूट्यूब चैनल ‘हाऊ डज शी डू इट’ भी चलाती हैं। एमी ने कहा- जन्म के बाद मेरे पैरेंट्स ने अस्पताल के स्टाफ से कहा था कि मुझे एक कमरे में बंद कर दें और खाना-पीना भी न दें। मैं अपने मुंह, ठोढ़ी और कंधे की मदद से तस्वीरें खींचती हूं। खुद के वीडियो बनाती हूं। इन वीडियो पर कई लोग निगेटिव कमेंट करते हैं। लेकिन मैं सिर्फ पॉजिटिव कमेंट्स पर ध्यान देती हूं, क्योंकि निगेटिविटी पर ध्यान देना समय की बर्बादी है।

सिलाई सीखना मेरी सबसे बड़ी उपलब्धि रही
एमी ने कहा- मेरी सबसे बड़ी उपलब्धि सिलाई सीखना रही। इसकी मदद से मैं हैंडबैग बनाकर ऑनलाइन बेचती हूं। मेरे पैरेंट्स को हमेशा से लगता था कि मैं इंडीपेंडेंट बनूंगी और उन्होंने कभी मुझे यह एहसास नहीं होने दिया कि मैं किसी से कम हूं बल्कि हमेशा मुझे प्रोत्साहित किया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


एमी ब्रूक्स।


बचपन के दिनों की तस्वीर में एमी ब्रूक्स।

Check Also

इमरान खान ने कहा- मोदी से बातचीत की संभावना खत्म; जंग का खतरा बढ़ा

नई दिल्ली/ इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के अनुसार नरेंद्र मोदी से उनकी बातचीत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *