ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / पंजाब / भक्ति ऐसी हो कि अंतिम समय में भी ईश्वर का स्मरण रहे : मधुसूदन बापू

भक्ति ऐसी हो कि अंतिम समय में भी ईश्वर का स्मरण रहे : मधुसूदन बापू




समागम के दौरान कथा सुनते पंडाल मेंम उपस्थित श्रद्धालु। -भास्कर

भास्कर संवाददाता|टांडा/उड़मुड़

सनातन धर्म जागरण सभा उड़मुड़ टांडा की ओर से रामलीला ग्राउंड उड़मुड़ में पांच दिवसीय श्री कृष्ण कथा एवं हरिनाम संकीर्तन का शुक्रवार को आरंभ हुआ। कथा में मधुसूदन बापू ने कहा कि गीता ज्ञान, वेदों का सार युगों-युगों से मानव जाती तक पहुंचाता रहा है। यह उसी सनातन ज्ञान की पयस्विनी है जो वेदों से बहकर चली आ रही है। इसीलिए गीतों को वेदों का सार कहा गया है। उन्होंने कहा कि ईश्वर की कृपा से प्राप्त मनुष्य जन्म का लाभ यही है कि हम ज्ञान और भक्ति से अपने जीवन को ऐसा बना लें कि जीवन के अंत समय में भी प्रभु का स्मरण बना रहे। उन्होंने कहा कि आज कल के लोग घर में रखे हुए कुत्तों को घुमाने के लिए तो आधा घंटे का समय निकाल लेते है लेकिन अपने बुजुर्ग मां बाप को किसी भी धार्मिक अस्थान में माथा टिकाने के लिए नहीं ले जा सकते। उन्होंने कहा कि हमारी नई पीढ़ी को चाहिए कि अपने माता पिता की सेवा करें। इस मौके पंडित मुरलीधर, शाम लाल वर्मा, नवनीत बहल, प्रेम पडवाल, पंकज, रमेश कुमार, केवल खुराना, राज ठाकुर, गोवर्धन लाल, मन्ना, नीटा, बलविंदर, भारती शर्मा, सरोज रानी, किरण बाला, नीलम, सीमा, रेखा खुराना, रानी, पूजा, मधु और शहर की समूह संगत उपस्थित थे।

कथा करते मधुसूदन बापू।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Tanda News – bhakti is such that in the last time remember god madhusudan bapu


Tanda News – bhakti is such that in the last time remember god madhusudan bapu

Check Also

समाना अदालत में रमनदीप कौर सिविल जज जूनियर डिविजन नियुक्त

समाना अदालत में एक अदालत और बनाई गई है। इसमें सिविल जज जूनियर डिविजन रमनदीप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *