ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / भोपाल का बड़ा तालाब लबालब, सीजन में चौथी बार खुले भदभदा के गेट; तीन जिलों में स्कूल बंद

भोपाल का बड़ा तालाब लबालब, सीजन में चौथी बार खुले भदभदा के गेट; तीन जिलों में स्कूल बंद



भोपाल. राजधानी भोपाल समेत लगभग समूचे राज्य के इन दिनों भारी बारिश से बेहाल होने के चलते सड़कों पर सैलाब जैसा नजारा है। जबलपुर में बरगी डैम के 16 गेट खोलने पर नर्मदा नदी में बाढ़ से बारना नदी के पुल पर बैक वाटर आ गया।रायसेन का जबलपुर और भोपाल से सड़क संपर्क टूट गया है।श्योपुर से सवाई माधोपुर जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग मार्ग दांतरदा गांव की पुलिया पर चम्बल नदी के बाढ़ का पानी घुसने से बंद हो गया है। बरगी डैम के 15 गेट खोलने के बाद रायसेन में प्रशासन ने नर्मदा के खतरे को लेकरगांवों में कराई मुनादी।

इधर,बड़ा तालाब लबालब भरने से भदभदाडैम के गेट सीजन में चौथी बार खोलने पड़े। 36 घंटे तक गेट खुले रहे। वहीं भारी बारिश की चेतावनी को लेकर गुना, अशोकनगर और राजगढ़ में स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है।राजधानी भोपाल में भी शुक्रवार को सुबह से बारिश का दौर रुक-रुक कर जारी है।

15 अगस्त यानि स्वतंत्रता दिवस पर भी राजधानी में दिन भर बौछारों से लेकर तेज बूंदाबांदी का सिलसिला चलता रहा था। इससे बड़ा तालाब का फुल टैंक लेवल से ज्यादा पानी हो जाने से भदभदा डैम के दो गेट खोले गए और 14 अगस्त की रात से खोले गए भदभदा डैम के गेट36 घंटे बाद बंद किए गए।वहीं गुरुवार को पहली बार कलियासोत डैम का भी एक गेट खोलना पड़ा था।

सीएम कमलनाथ खुद कर रहे हैं मॉनिटरिंग
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भारी बारिश के दौरान किसी भी प्रकार की जान-माल की हानि रोकने के लिए शासन प्रशासन को चौकस रहने और राहत और बचाव के सभी उपाय करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने जनता से अपील की है कि वे भी विशेष सावधानी बरते ताकि कोई अप्रिय घटना घटित ना हो। कमलनाथ ने कहा कि वे स्वयं प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से भारी वर्षा संबंधी जानकारी लेकर, इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

श्योपुर का राजस्थान से सड़क संपर्क टूटा
जानकारी के अनुसार,मध्यप्रदेश के मालवा और भोपाल अंचल सहित राजस्थान के हाड़ौती जिलों में हो रही भारी बरसात से श्योपुर-कोटा मार्ग स्थित जलालपुरा चौकी पर पार्वती नदी करीब 50 फीट ऊपर बह रही है। वहीं, श्योपुर से बारां राज्य मार्ग पर कुहानजापुर गांव सीमा पर 20 फीट ऊपर पार्वती नदी का पानी बहने से दोनों मार्ग देर रात से ठप हो गए। वहीं, श्योपुर से सवाई माधोपुर जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग मार्ग दांतरदा गांव की पुलिया पर चम्बल नदी के बाढ़ का पानी घुसने से बंद हो गया है।श्योपुर जिले में पिछले 36 घंटे में कई जगह 3 से 5 इंच तक बरसात हुई है।

बरगी डैम के 15 गेट खोले गए
जबलपुर जिले स्थित बरगी बांध के पंद्रह गेट खोले जाने के चलते रायसेन जिले के बरेली के समीप बारना नदी के पुल पर बैक वाटर आ गया जिसके चलते रायसेन का जबलपुर और भोपाल से सड़क संपर्क टूट गया।बरगी बांध के कंट्रोल रूम के अनुसार बुधवार रात से बरगी डेम के 15 गेट डेढ़ मीटर तक खोले गए हैं। जिनसे 3450 क्यूसिक पानी प्रति सेकेंड निकल रहा है। बताया गया है कि 1 लाख 28 हजार 900 क्यूसिक पानी छोड़ा जाना है। जिससे नर्मदा नदी का जलस्तर 5 से 6 मीटर ऊपर बढने की संभावना है। इससेरायसेन जिला प्रशासन ने नर्मदा नदी किनारे बसे गांवों मेंमुनादी भी कराई है।

बारना नदी का पुल डूबा भोपाल-जबलपुर सड़क संपर्क टूटा
देर रात बरेली के पास बारना नदी पर पानी आ गया। जिस कारण नर्मदा नदी के किनारे बसे गावों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। बारना पुल पर पानी आने से राष्ट्रीय राजमार्ग 12 का सड़क मार्ग बंद हो गया है। इसके चलते भोपाल-जबलपुर सड़क मार्ग बन्द है। दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई हैं।

विदिशा-रायसेन को जोड़ने वाले पुल पर भरा पानी
वहीं रायसेन में पगनेश्वर नदी का पुल पूरी तरह से डूब गया है, जिससे रायसेन का विदिशा और भोपाल से संपर्क टूट गया है।राष्ट्रीय राजमार्ग-146 तीन दिन से बंद है। यहां बेतवा के पगनेश्वर पुल पर 10 फिट पानी है। क्षेत्र में लगभग 100 ग्राम बसे हुए हैं, जिनका संपर्क टूट गया है।

बीना में रेलवे ट्रैक पर पानी भरा
विदिशा में भी प्रशासन ने भारी बारिश के चलते आम नागरिकों से नदी नाले और तालाब आदि के समीप नहीं जाने की अपील की है। गुना जिले स्थित गोपीकृष्ण सागर के भी गेट खुलने की खबरें हैं। वहीं सागर जिले के बीना में रेल ट्रैक पर पानी भर जाने से दिल्ली-मुंबई मार्ग पर कल ट्रेनें कुछ देर तक प्रभावित रहीं।

चंबल और पार्वती नदियां खतरे के निशान से ऊपर
श्योपुर जिले में चंबल तथा पार्वती नदियां खतरे के निशान से ऊपर बहने से श्योपुर का राजस्थान के कोटा, बारां सहित जयपुर को जोड़ने वाले तीनों मार्गों पर यातायात बंद हो गया है। नदी किनारे के कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। इसके चलते प्रशासन ने मुरैना और भिंड जिले में अलर्ट जारी किया है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


रायसेन को विदिशा से जोडने वाला पगनेश्वर गांव का पुल तीन दिन से बेतवा के उफान में डूबा हुआ है।


बड़ा तालाब फुल टैंक लेवल से ऊपर पहुंचा।


The state is inundated with rain, the roads are flooded; Contact with many cities broken, Bhadbhada’s gates closed after


The state is inundated with rain, the roads are flooded; Contact with many cities broken, Bhadbhada’s gates closed after

Check Also

कृषि मंत्री सचिन यादव ने कहा- एक-एक किसान का दो लाख रु. तक का कर्ज माफ होगा

भोपाल.कृषि मंत्री सचिन यादव ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि किसानों की कर्जमाफी के लिए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *