ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राजनीति / मंत्री को जबरन लौटाया

मंत्री को जबरन लौटाया

Bबागी विधायकों से मिलने आए थे कर्नाटक के मंत्री Bडी.के. शिवकुमारB

पवई के होटल में ठहरे विधायकों ने की थी उनसे खतरा होने की शिकायत

होटल ने रद्द की शिवकुमार के कमरे की बुकिंग

पुलिस ने मंत्री को हिरासत में लेकर Bबेंगलुरु की फ्लाइट में बैठायाB

B

Abhimanyu.Shitole@timesgroup.com

मुंबई: कर्नाटक के सियासी नाटक का केंद्र बुधवार को यहां पवई का होटल रेनांसां रहा। इस होटेल में रुके कर्नाटक कांग्रेस के बागी विधायकों से मिलने बेंगलुरु से मुंबई आए कर्नाटक सरकार के मंत्री डी.के. शिवकुमार को पुलिस ने होटल में घुसने से रोक दिया। इतना ही नहीं, होटल में उनके लिए पहले से बुक कमरे की बुकिंग होटल के प्रबंधन ने इमर्जेंसी कारणों का हवाला देते हुए रद्द कर दी। बाद में पुलिस ने शिवकुमार समेत मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा, विधायक नसीम खान और कई कांग्रेस नेताओं को हिरासत में ले लिया। मिलिंद ने दावा किया कि दिन भर बैठाए रखने के बाद पुलिस ने शिवकुमार को जबरन बेंगलुरु की फ्लाइट में बैठाकर वापस भेज दिया। होटल के समीप निषेधाज्ञा लागू कर दी गई थी।

शिवकुमार के मुंबई आने की खबर मिलते ही मुंबई में रुके कर्नाटक के बागी विधायकों ने मुंबई के पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर सुरक्षा मांगी और शिवकुमार से खतरा बताते हुए उन्हें होटल के भीतर आने से रोकने की गुहार लगाई। इस पत्र पर 10 बागी विधायकों शिवराम हेब्बार, प्रताप गौड़ा पाटिल, बी. सी. पाटिल, बायरती बसवराज, एस.टी. सोमशेखर, रमेश जारकीहोली, गोपालैया, एच. विश्वनाथ, नारायण गौड़ा और महेश कुमारतली के नाम और हस्ताक्षर हैं।

Bसुबह 8.20 से शुरू हुआ ड्रामाB

बेंगलुरु से कांग्रेस के संकटमोचक डी. के. शिवकुमार सुबह 8:20 बजे होटल रेनांसां पहुंचे, तो वहां काफी तादाद में पुलिस तैनात थी। पुलिस ने शिवकुमार को होटल के अंदर जाने से रोका। पुलिस ने जब बागी विधायकों के पत्र के बारे में उन्हें बताया, तो उन्होंने कहा, ‘मेरे साथ कोई सुरक्षा बल या हथियार नहीं हैं। मैं अपने दोस्तों से मिलना और उनके साथ कॉफी पीना चाहता हूं।’ जब पुलिस ने उनकी नहीं सुनी, तो वह वहीं बैठ गए।

Bमुंबई कांग्रेस के नेता भी पहुंचेB

शिवकुमार की मदद के लिए मुंबई कांग्रेस और यूथ कांग्रेस के नेता भी होटल पहुंच गए। बड़ी तादाद में मीडिया भी वहां मौजूद था। शिवकुमार जब मीडिया से बात कर रहे थे, पुलिस ने उनके साथ-साथ देवड़ा और खान को भी हिरासत में ले लिया। तीनों को बीकेसी के पुलिस गेस्टहाउस ले जाया गया। बाद में सभी को छोड़ दिया गया। शिवकुमार पुलिस अपने साथ एयरपोर्ट ले गई और बेंगलुरु जानने वाले विमान से उन्हें वापस भेज दिया गया।

Check Also

मेट्रो बोर्ड में डायरेक्टर्स की नियुक्ति को लेकर केंद्र और दिल्ली सरकार में तनातनी की आशंका

नई दिल्लीकेंद्र और में एक बार फिर टकराव हो सकता है। इस बार मामला दिल्ली …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *