ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / मध्यपूर्व में लड़ाई के लिए सेना नहीं भेजेंगे: ट्रम्प, ईरान ने कहा- हम भी युद्ध नहीं चाहते

मध्यपूर्व में लड़ाई के लिए सेना नहीं भेजेंगे: ट्रम्प, ईरान ने कहा- हम भी युद्ध नहीं चाहते



वॉशिंगटन. अमेरिका और ईरान के बीच परमाणु समझौते को लेकर तनाव चरम पर है। ट्रम्प प्रशासन ने ईरान की परमाणु परीक्षण की धमकियों के बाद मध्यपूर्व में अपना नौसैना आक्रमण दल तैनात कर दिया है। हाल ही में खबर आई थी कि ईरान पर दबाव बनाने के लिए अमेरिका मध्यपूर्व में 1 लाख 20 हजार सैनिकों का बेड़ा भेज सकता है। हालांकि, ट्रम्प प्रशासन ने ऐसी किसी भी संभावना से इनकार किया है। वहीं ईरान ने भी अमेरिका के खिलाफ आक्रामक रवैया अपनाने की बात नकारी है।

अमेरिका अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने सरकार में अफसरों के हवाले से दावा किया था कि ट्रम्प मध्यपूर्व में सेना को और ज्यादा बल देना चाहते हैं। लेकिन ट्रम्प ने इसे फेक न्यूज बताया है। उन्होंने कहा कि हमारी ऐसी कोई योजना नहीं है और अगर कभी इसकी संभावना बनी तो हम इससे ज्यादा ताकतवर सेना भेजेंगे।

दूसरी तरफ ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला अली खमनेई ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका के साथ कोई युद्ध नहीं होगा। रिपोर्ट्स में कहा गया था कि ईरान अमेरिका का सामना करने के लिए आक्रामक रवैया अपना सकता है। लेकिन खमनेई ने कहा कि न तो ईरान और न ही अमेरिका ऐसा कोई युद्ध चाहता है। हांलाकि, उन्होंने ट्रम्प प्रशासन के साथ समझौता न करने की बात कही। उन्होंने कहा कि यह देश के लिए जहर हो सकता है, क्योंकि अमेरिका उनके सारे मिसाइल और तकनीक लेना चाहता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


US and Iran says they don’t seek war in Middle East news and updates

Check Also

बार में गोलीबारी, 11 की मौत

यह घटना रविवार दोपहर करीब 3.30 बजे पारा राज्य की राजधानी बेलेम में हुई। पुलिस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *