ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / व्यापार / माइंडट्री के फाउंडर बोले- कंपनी छोड़ने के लिए मिला था बड़ी रकम का प्रस्ताव

माइंडट्री के फाउंडर बोले- कंपनी छोड़ने के लिए मिला था बड़ी रकम का प्रस्ताव



नई दिल्ली. आईटी कंपनी माइंडट्री के फाउंडर और पूर्व सीईओ सुब्रोतो बागची ने खुलासा किया है कि माइंडट्री छोड़ने के लिए उन्हें और दूसरे प्रमोटर्स को मोटी रकम लेने का ऑफर दिया गया था। बागची ने किसी का नाम नहीं लिया है लेकिन यह बात ऐसे समय सामने आई है जब लार्सन एंड टूब्रो (एलएंडटी) कंपनी माइंडट्री के टेकओवर की कोशिश कर रही है।

  1. बागची ने कर्मचारियों को पत्र लिखकर कहा है कि उन्हें, कृष्णकुमार नटराजन, रोस्तो रावनन और पार्थसारथी एनएस को प्रस्ताव मिला था। लेकिन, हमने उसे स्वीकार नहीं किया। हमारे विनम्र इनकार को लोअर मिडिल क्लास के लोगों का मूर्खतापूर्ण आदर्शवाद बताया गया।

  2. बागची का कहना है कि उन्होंने ओडिशा स्किल डेवलपमेंट अथॉरिटी के चेयरमैन का पद छोड़कर फिर से माइंडट्री को ज्वॉइन कर लिया है। मैं किसी दूसरी दुनिया में रहकर यह भयानक सपना नहीं देख सकता कि बिल्डर बुल्डोजर और क्रेन लेकर आएं और माइंडट्री को बर्बाद कर दें।

  3. बागची ने कर्मचारियों से कहा है कि मैं आपके साथ मौके पर रहना चाहता हूं क्योंकि मैं अपने विधाता को यह नहीं समझा पाउंगा कि जब पेड़ों को नष्ट करने की कोशिश हुई तो माली मौके पर क्यों नहीं था।

  4. एलएंडटी ने सोमवार को वीजी सिद्धार्थ से माइंडट्री के 20.32% शेयर 3,269 करोड़ रुपए में खरीदने का एग्रीमेंट किया है। सिद्धार्थ माइंडट्री के सबसे बड़े शेयरहोल्डर हैं। उसने कहा कि अतिरिक्त शेयर खरीदने के लिए ओपन ऑफर लाया जाएगा। एलएंडटी ने कुल 66% हिस्सेदारी खरीदने के लिए 10,800 करोड़ रुपए का ऑफर दिया है।

  5. यह अधिग्रहण पूरा हुआ तो यह देश के आईटी सेक्टर में यह पहला होस्टाइल (प्रतिकूल) अधिग्रहण होगा। माइंडट्री के बोर्ड मेंबर इसके खिलाफ हैं। बोर्ड ने एलएंडटी को पत्र भी लिखा था। इस संबंध में 26 मार्च को फिर से माइंडट्री बोर्ड की बैठक होगी।

  6. एलएंडटी के एमडी और सीईओ एस एन सुब्रमण्यन ने इसे होस्टाइल टेकओवर मानने से इनकार करते हुए कहा था कि यह दिल और प्यार का मामला था। हम सबका दिल जीत लेंगे।

  7. किसी कंपनी को खरीदने के लिए उसके मैनेजमेंट से बिना बात किए सीधे शेयरहोल्डर्स से डील करना होस्टाइल टेकओवर या फोर्स्ड टेकओवर बिड कहलाता है। कई बार खरीदार, टारगेट कंपनी के मैनेजमेंट को बदलने की कोशिश करता है या फिर टेकओवर के लिए आकर्षक ऑफर देता है। टारगेट कंपनी का मैनेजमेंट कोशिश करता है कि टेकओवर न हो।

  8. एलएंडटी अपनी दो सब्सिडियरी कंपनियों एलएंडटी इन्फोटेक और एलएंडटी टेक्नोलॉजी के जरिए पहले से आईटी सेक्टर में सेवाएं दे रही है। अपना क्लाइंट बेस और प्रोडक्ट रेंज बढ़ाने के लिए यह माइंटड्री को खरीदना चाहती है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      mindtree founder subroto bagchi says offered huge bags of money

Check Also

दूरसंचार विभाग का आदेश- कंपनियां वेरिफिकेशन में आधार का इस्तेमाल बंद करें

नई सिम जारी करने और ग्राहकों के वेरिफिकेशन को लेकर दूरसंचार विभाग ने टेलीकॉम कंपनियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *