ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / टेक / मार्क जकरबर्ग की सुरक्षा पर सालभर में खर्च हुए 52.11 करोड़ रुपए, टिम कुक पर सिर्फ 2.21 करोड़

मार्क जकरबर्ग की सुरक्षा पर सालभर में खर्च हुए 52.11 करोड़ रुपए, टिम कुक पर सिर्फ 2.21 करोड़



गैजेट डेस्क. टेक कंपनियां अपने पेटेंट्स और इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी को सुरक्षित रखने के लिए लाखों-करोड़ों रुपए का खर्चा करती हैं, लेकिन इससे भी कहीं ज्यादा खर्चा कंपनियां अपने टॉप एग्जीक्यूटिव की निजी सुरक्षा पर करती हैं। वायर्ड ने अमेरिकी सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन से आंकड़ें जुटाकर एक रिपोर्ट छापी है, जिसके मुताबिक, साल 2018 में अपने सीईओ की सिक्योरिटी पर खर्च करने के मामले में फेसबुक सबसे आगे रही। 2017 में फेसबुक ने सीईओ और चेयरमैन मार्क जकरबर्ग की सुरक्षा पर 7.3 मिलियन डॉलर (करीब 52.11 करोड़ रुपए) खर्च किए, जबकि कंपनी की चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर शेरिल सैंडबर्ग की सुरक्षा पर 2.6 मिलियन डॉलर (करीब 19.11 करोड़ रुपए) खर्च किए।

5 साल पहले जकरबर्ग पर 17 करोड़ होते थे खर्च
वायर्ड की रिपोर्ट में कहा गया है कि 5 साल पहले यानी 2013 में मार्क जकरबर्ग की सिक्योरिटी पर 2.6 मिलियन डॉलर (करीब 17 करोड़ रुपए) खर्च होते थे, जबकि आज ये खर्च तीन गुना तक बढ़ गया। वहीं, पिछले साल हुए इन्वेस्टर्स की मीटिंग में फेसबुक ने कहा था कि वह मार्क जकरबर्ग की सुरक्षा पर सालाना 70 करोड़ रुपए से ज्यादा का खर्च करने की तैयारी कर रही है।

टिम कुक की सुरक्षा पर सिर्फ 2.21 करोड़ खर्च
वायर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक, एपल के सीईओ टिम कुक की सुरक्षा पर उनकी कंपनी ने 2017 में सिर्फ 3.10 लाख डॉलर (करी 2.21 करोड़ रुपए) का खर्च करती है जबकि गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई पर अल्फाबेट ने 2017 में 6.37 लाख डॉलर (करीब 4.53 करोड़ रुपए) खर्च किए। अमेजन के फाउंडर और सीईओ जेफ बेजोस की सुरक्षा पर 11.38 करोड़ रुपए और ओरेकल के सीईओ लैरी एलिसन की सुरक्षा पर भी 11.42 करोड़ का खर्चा किया गया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


tech companies spends on security for its top executives

Check Also

2 अप्रैल से बंद हो जाएगी गूगल प्लस और 'इनबॉक्स बाय जीमेल' सर्विस, जीमेल ऐप में मिलेंगे इसके सारे फीचर्स

गैजेट डेस्क. सर्च इंजन कंपनी गूगल साल 2014 में शुरू हुई इनबॉक्स बाय गूगल सर्विस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *