ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / उत्तर प्रदेश / मुठभेड़ में पुलिस ने कैश वैन लूटकांड में शामिल बदमाश को पकड़ा, बीएसएफ का भगोड़ा है आरोपी

मुठभेड़ में पुलिस ने कैश वैन लूटकांड में शामिल बदमाश को पकड़ा, बीएसएफ का भगोड़ा है आरोपी



कुशीनगर. हाटा थाना इलाके में पुलिस व बदमाशों के बीच सोमवार सुबह हुई मुठभेड़ में एक लाख के इनामिया को पकड़ा गया है। बदमाश के पैर में गोली लगी है। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। गिरफ्तार बदमाश चर्चित कैश वैन लूटकांड में वांछित था। मुठभेड़ में बदमाश के अलावा स्वाट टीम प्रभारी को भी गोली लगी है। जबकि, अन्य बदमाश भागने में कामयाब रहे। उनकी गिरफ्तारी के लिए टीम दबिश डाल रही हैं।

कैश वैन से लूटे थे डेढ़ करोड़

पुलिस अधीक्षक राजीव नारायण मिश्र ने बताया कि, बीते साल 10 दिसंबर को कप्तानगंज-गोरखपुर मार्ग पर बदमाशों ने कैश वैन से करीब डेढ़ करोड़ रुपए लूट लिए थे। इस घटना में शामिल तीन लुटेरों देवरिया निवासी सतीश जायसवाल, बिहार के सिवान जिले के राजपुर निवासी नागेंद्र और गोरखपुर निवासी रामभवन को इसी साल दो जनवरी को गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तार बदमाशों के पास से करीब 57 लाख की नगदी और 12 लाख रुपए की खरीदी गई जमीन के कागजात आदि बरामद किए गए थे।

बीएसएफ का भगोड़ा है आरोपी

एसपी ने बताया कि लूट की इस सनसनीखेज घटना में शामिल बएसएफ के भगौड़े एक लाख रुपए के इनामी बदमाश मोटरसाइकिल सवार अमित सिंह को सोमवार की सुबह करीब पौने पांच बजे हाटा इलाके प्रयागपुर गांव के पास हुई मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ में बदमाश के अलावा स्वाटी टीम के प्रभारी सुनील कुमार राय घायल हुए है। दोनों घायलों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। घायल बदमाश के पास से पिस्टल और कारतूस बरामद किए गए हैं।

यूपी के अलावा बिहार में कई मामले दर्ज

राजीव नारायण मिश्र ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश मूलरुप से गोपालगंज बिहार का रहने वाला है। इस की गिरफ्तारी पर पुलिस महानिदेशक की ओर से एक लाख का इनामी घेषित कर रखा था। इसके खिलाफ उत्तर प्रदेश के अलावा बिहार के सिवान और गोपालगंज जिलों के विभिन्न थानों पर हत्या, डकैती,लूट और हत्या के प्रयास आदि के 24 से अधिक मामले दर्ज हैं। यह बदमाश पिछले साल नवम्बर में सिवान जेल से जमानत पर छूटा था और इसने अपने साथियों के साथ पिछले साल दस दिसम्बर को कैश वैन लूट की घटना को अंजाम दिया था।

2010 में बीएसएफ में भर्ती हुआ था आरोपी

इसके एक साथ सत्येंद्र पहलवान को गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अमित सिंह 2010 में बीएसएफ में भर्ती हुआ था और 2017 में जयपुर में इसकी तैनाती थी। इसके खिलाफ उस समय दो मामले दर्ज थे। उन्होंने बताया कि कैश लूट वैन की घटना में पुलिस अब तक पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


kushinagar news police arrested criminal involved in cash van loot

Check Also

लखनऊ में आज पेट्रोल हुआ 5 पैसा महंगा, 21 अप्रैल 2019 का दाम हुआ 72.18 रुपए प्रति लीटर

लखनऊ। रोजाना प्राइस रिवाइजिंग पैटर्न के चलते लखनऊ में आज 21 April 2019 को पेट्रोल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *