ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / राष्ट्रीय / युवती ने कहा- मेरी शादी है, सरेंडर की तारीख बढ़ा दें; जेल गई तो कोई हाथ नहीं थामेगा

युवती ने कहा- मेरी शादी है, सरेंडर की तारीख बढ़ा दें; जेल गई तो कोई हाथ नहीं थामेगा



नई दिल्ली. अदालत में लोग अक्सर अटपटे बहाने करके अपने लिए राहत की मांग करते रहते हैं। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को दहेज प्रताड़ना के मामले में आरोपी महिला ने अपनी शादी को आधार बनाते हुए सरेंडर के लिए औरसमय मांगा। मगर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने महिला की मांग काे खारिजकर दिया।

दरअसल, सोमवार सुबह सुप्रीम कोर्ट में मेंशनिंग के दौरान दहेज प्रताड़ना के मामले में आरोपी महिला ने बताया, मैं मेरी सगाई 22 अप्रैल को और उसके बाद शादी है। ऐसे में सरेंडर करने की अवधि को बढ़ाया जाए। अगर जेल चली गई तो कोई शादी नहीं करेगा।

ये सवाल-जवाब हुए
चीफ जस्टिस-
तो आप शादी के बाद सरेंडर करना चाहती हैं?
महिला- जी हां, मैं यही चाहती हूं।
चीफ जस्टिस- हम इसकी अनुमति नहीं देंगे। जिससे कि दूसरा पक्ष अचंभित न हो। और आपने हमें तो न्योता दिया ही नहीं है।

आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें


Woman appeal to Supreme Court

Check Also

प्रज्ञा ने कहा- हेमंत करकरे को मेरा श्राप लगा, भाजपा ने कहा- निजी बयान है

भोपाल/नई दिल्ली. भोपाल से भाजपा की प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने मुंबई हमले में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *