ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / राष्ट्रपति ने पनडुब्बी में बैठकर समुद्र बचाने का संदेश दिया, कहा- यह सबसे बड़ा मुद्दा

राष्ट्रपति ने पनडुब्बी में बैठकर समुद्र बचाने का संदेश दिया, कहा- यह सबसे बड़ा मुद्दा



विक्टोरिया. दुनियाभर के नेता और कार्यकर्ता पर्यावरण बचाने की मुहिम में लगे हुए हैं। अब सेशेल्स के राष्ट्रपति डैनी फॉरे दुनिया से समुद्रों को बचाने की अपील की है। इसके लिए उन्होंने पनडुब्बी में बैठकर स्पीच दी। फॉरे ने ग्लोबल वॉर्मिंग खतरों से आगाह करते हुए कहा कि कई द्वीपों पर आने वाले वक्त में संकट खड़ा हो सकता है। इस तरह का भाषण देने वाले फॉरे दुनिया के पहले व्यक्ति हैं।

  1. फॉरे ने यह स्पीच ब्रिटेन की अगुआई वाले एक वैज्ञानिक अभियान के दौरान दी। उनके मुताबिक- “यह हमारा सबसे बड़ा मुद्दा है। इसे हल करने के लिए हम अगली पीढ़ी का इंतजार नहीं कर सकते। हम कोई भी कार्रवाई न करने और समय से भाग रहे हैं। समुद्र सतह की बजाय हमारे पास मंगल ग्रह का बेहतर नक्शा है।” दुनिया के दो-तिहाई हिस्सा महासागरों से घिरा है।

  2. डैनी फॉरे ने सतह से 121 मीटर गहराई में पनडुब्बी में बैठकर यह स्पीच दी। उन्होंने कहा- इस गहराई में मैं हतप्रभ करने वाले समुद्री जीवन को देख रहा हूं। इसे संरक्षित किए जाने की जरूरत है। पारिस्थितकी तंत्र को नुकसान पहुंचाए जाने का खामियाजा सदियों को भुगतना पड़ेगा। सालों से हमने खुद ही समस्याएं पैदा की हैं। अब इन्हें सुलझाना होगा।

  3. मौजूदा वक्त में महासागरों का केवल 5% हिस्सा ही संरक्षित है। कई देशों ने 2020 तक इस क्षेत्र को 10% बढ़ाने पर सहमति जताई है। विशेषज्ञों और पर्यावरणविदों का कहना है कि देशों की क्षेत्रीय सीमा के पास स्थित 30% से 50% महासागरों में समुद्री जैव विविधता सुनिश्चित करना चाहिए।

  4. सेशेल्स हिंद महासागर में स्थित द्वीप समूह है। इसमें 115 द्वीप हैं। इसकी राजधानी विक्टोरिया है। यह अफ्रीकी मुख्यभूमि से लगभग 1500 किमी दूर पूर्व में स्थित है। इसके पश्चिम में जंजीबार, दक्षिण मे मॉरीशस और रीयूनियन, दक्षिण-पश्चिम मे कोमोरोस द्वीर और उत्तर-पूर्व में मालदीव स्थित है। यहां की आबादी करीब 95 हजार है जो किसी भी अफ्रीकी देश में सबसे कम है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      डैनी फॉरे (बाएं)।

Check Also

ब्रिटेन की हाईकोर्ट से माल्या को मिला तगड़ा झटका, अब सुप्रीम कोर्ट से बची है आस

इंटरनेशनल डेस्क, लंदन। भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या (62) की प्रत्यर्पण के खिलाफ अर्जी ब्रिटेन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *