ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / लंदन में एड्स के वायरस से मुक्त हुआ मरीज, दुनिया में ऐसा दूसरा केस

लंदन में एड्स के वायरस से मुक्त हुआ मरीज, दुनिया में ऐसा दूसरा केस



हेल्थ डेस्क. लंदन के एक एचआईवी पॉजिटिव शख्स को स्टेम सेल ट्रांसप्लांट की मदद से सफलतापूर्वक एड्स के वायरस से मुक्त करा लिया गया है। एड्स से पूरी तरह ठीक होने वाला यह दुनिया का दूसरा शख्स है। पहला मरीज एक जर्मन था जिसे बर्लिन पेशेंट के नाम से जाना गया था जिसे 2008 में एड्स मुक्‍त करार दिया गया था।मामला सामने आने के बाद उसने अपना नाम टिमोथी ब्राउन बताया था। वर्तमान में दुनियाभर में 3.7 करोड़ लोग एचआईवी वायरस से संक्रमित हैं।

  1. डॉक्टर्स के मुताबिक, 2003 में रोगी को एचआईवी ग्रस्त होने की जानकारी मिली थी। 2012 में उसने संक्रमण का इलाज कराना शुरू किया। जांच के दौरान 2012 में ही रोगी को हॉजकिन्स लिम्फोमा से पीड़ित होने की बात भी सामने आई। यह कैंसर का एक प्रकार है जिसमें मरीज की संक्रमण से लड़नेकी क्षमता तेजी से कम होने लगती है।

  2. कैंसर के इलाज के दौरान डॉक्टर्स को एक ऐसा डोनर मिला जिसके शरीर में ऐसा दुर्लभ जीन था जो एचआईवी के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। डॉक्टर्स ने वायरस खत्म के लिए दुर्लभ जीन वाले डोनर की स्टेम सेल को एचआईवी पेशेंट्स में ट्रांसप्लांट किया।

  3. स्टेम सेल ट्रांसप्लांट के बाद मरीज का इम्यून सिस्टम बदल गया और शरीर पर एचआईवी वायरस बेअसर हो गया।आमतौर पर इसका वायरस कुछ महीनों बाद दोबारा सक्रिय हो जाता है। यह जांचने के लिए मरीज की दवाएं बंद की गईं। करीब 18 महीने बाद भी उसके शरीर में वायरस नहीं पाया गया और प्रयोग सफल रहा।

  4. यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के एचआईवी एक्सपर्ट रविंद्र गुप्‍ता के मुताबिक ऐसा दुर्लभ जीन मिलना असंभव माना जाता है। ऐसा जीन म्यूटेशन के कारण होता है। यह उत्‍तरी यूरोप में रहने वाले महज एक प्रतिशत लोगों में होता है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      London HIV Patient Worlds Second To Be Cleared Of AIDS Virus

Check Also

कभी तीखा था चॉकलेट का स्वाद, कोको के बीज में मसाले मिलाकर तैयार की जाती थी, दिलचस्प है इसका सफर

अपने शुरुआती दौर में चॉकलेट का टेस्ट तीखा हुआ करता था। ककाउ के बीजों को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *