ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / शरीर में गर्माहट और ऊर्जा को बढ़ाता है तिल इसलिए मकर संक्रांति में बनाए जाते हैं इसके पकवान

शरीर में गर्माहट और ऊर्जा को बढ़ाता है तिल इसलिए मकर संक्रांति में बनाए जाते हैं इसके पकवान



लाइफस्टाइल डेस्क. तिल को सर्दी में खाने का वैज्ञानिक महत्व भी है। धीरे-धीरे घटते तापमान के कारण अधिक ऊर्जा और गर्माहट की जरूरत होती है, इसकी पूर्ति तिल करता है। इसलिए सर्दी में मनाए जाने वाले त्योहार मकर संक्रांति और लोहड़ी में परंपरा से लेकर पकवानों से तिल का प्रयोग किया जाता है।

शीत ऋतु में खाई जाने वाली हर मिठाई में आपको तिल मिल जाएगा क्योंकि इसमें पोषक तत्व के साथ ‘गुड फैट’ की मात्रा अधिक होती है जो शरीर को ज़रूरी ऊष्मा प्रदान करता है। तिल में अच्छी मात्रा में मैग्निशियम होता है जो हायपरटेंशन से बचाता है और एंटीऑक्सीडेंट्स रोग-प्रतिरोधक तंत्र को मज़बूती प्रदान करते हैं। कोलम्बिया एशिया हॉस्पिटल गुड़गांव की आहार विशेषज्ञ डाॅ. शालिनी गार्विन ब्लिस से जानते हैं तिल के क्या हैं फायदे….

  1. पोषण से भरपूर तिल का तेल हृदय को भी स्वस्थ रखता है। यह कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और रक्तचाप सामान्य रखता है। इसमें आयरन भी अच्छी मात्रा में होता है जो एनीमिया जैसी बीमारियों को दूर रखता है। जोड़ों के दर्द और सूजन में तिल खाना फ़ायदेमंद होता है क्योंकि इसमें मौजूद कॉपर सूजन और दर्द से आराम दिलाता है। तिल त्वचा और बालों के लिए भी फ़ायदेमंद है।

  2. त्वचा के लिए गुणकारी तिल में फाइबर अधिक मात्रा में होता है जो पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखता है। तिल निर्मित कोई भी खाद्य पदार्थ भोजन की गुणवत्ता तो बढ़ाता ही है और कब्ज़ को भी दूर रखता है। तिल प्रोटीन और वसा का भंडार होते हैं इसलिए इसका सेवन गर्भावस्था में फ़ायदेमंद होता है। तिल के नियमित सेवन से त्वचा के दाग़-धब्बे भी मंद होते हैं। इसमें मौजूद जिंक मांसपेशियों मज़बूती प्रदान करता है।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      makar sankranti 2019 why people eat til ke laddu in makar sankranti lohri pongal benefits of til

Check Also

पहली नजर का प्यार कभी न भुलाया जाने वाला एहसास है, मनोवैज्ञानिकों ने माना कहावत नहीं हकीकत

लाइफस्टाइल डेस्क.पहली नजर का प्यार सिर्फ कहावत नहीं बल्कि हकीकत है। मनोवैज्ञानिकों ने भी हाल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *