ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / देश दुनिया / अंतररास्ट्रीय / सामान्य इंसानों से उलट जगह पर थे महिला के ऑर्गन, फिर भी 99 साल जिंदा रही

सामान्य इंसानों से उलट जगह पर थे महिला के ऑर्गन, फिर भी 99 साल जिंदा रही



वॉशिंगटन. शरीर में सामान्य इंसान से उलट जगह पर ऑर्गन होने के बावजूद अमेरिका की एक महिला 99 साल तक जिंदा रही। ओरेगॉन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी ने हाल ही में जारी एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया है। महिला का नाम रोज मैरी बेंटले बताया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल महिला की मौत के बाद यूनिवर्सिटी की एक क्लास में इस मेडिकल कंडीशन का खुलासा हुआ।

बाईं की जगह दाईं तरफ मौजूद थे कई अंग

मेडिकल टर्म में इस स्थिति को यूनिकॉर्न कंडीशन या सिटस इनवर्सस कहा जाता है। 5 करोड़ में कोई एक ही इस स्थिति से पीड़ित होता है। इसमें इंसान के ऑर्गन्स सामान्य व्यक्ति की मिरर इमेजस (प्रतिबिंब) पर स्थित होते हैं। रोज मैरी के ऑर्गन भी बाईं की जगह दाईं तरफ ही मौजूद थे।

डॉक्टरों को जब महिला की इस दुर्लभ मेडिकल कंडीशन का पता चला तो उन्होंने उसके पूरे शरीर की जांच की। इसमें सामने आया कि महिला के दिल और लिवर से जुड़ी ज्यादातर शिराएं (वीन्स) या तो उस जगह न होकर दूसरी जगह पर थीं या थी ही नहीं। इसके अलावा उसका पेट भी बाईं की जगह दाईं तरफ था। इसके अलावा लिवर और अन्य ऑर्गनभी उल्टी स्थिति में ही मौजूद थे।

स्वस्थ और एक्टिव लाइफस्टाइल जीती थीं रोज मैरी

डॉक्टरों के मुताबिक, रोज मैरी का इतने लंबे समय तक जिंदा रहना चौंकाने वाला है। आमतौर पर इस स्थिति वाले लोगों को उम्र बढ़ने के साथ दिल से जुड़ी समस्याएं हो जाती हैं, जो कि कम उम्र में ही मौत का कारण बनती हैं। लेकिन रोज के मामले में सामने आया कि उन्हें सिर्फ छोटी-मोटी परेशानियां ही हुईं। उनकी बेटी के जिंजर ने बताया कि मां काजीवनस्वस्थ और एक्टिव लाइफस्टाइल के साथ ही बीता। उन्हें कभी यह महसूस ही नहीं हुआ कि वह किसी मेडिकल कंडिशन का शिकार हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Woman lives to 99 years with medical condition of her organs in the wrong place

Check Also

दृष्टिहीन नाविक ने प्रशांत महासागर में बिना रुके 14000 किमी लंबा सफर कर रिकॉर्ड बनाया

फुकुशिमा (जापान).दृष्टिहीन जापानी नाविक ने प्रशांत महासागर मेंबिना रुके 14000 किमी लंबीयात्राशनिवार को पूरी की।इस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *