ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / राजस्थान / सामुदायिक स्वास्थ्य चिकित्सालयों में विशेषज्ञ चिकित्सक का अभाव

सामुदायिक स्वास्थ्य चिकित्सालयों में विशेषज्ञ चिकित्सक का अभाव




तहसील क्षेत्र में तीन राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य चिकित्सालय में अभी भी विशेषज्ञ चिकित्सकों के बिना ही चल रहे हंै। इससे मरीजों को सुचारू रूप से लाभ मिलने बजाए रैफर का तोहफा मिलता है।

तहसील क्षेत्र में वजीरपुर, खंडीप व पीलौदा सीएचसी होने पर भी लोगों को समुचित उपचार नहीं मिलता है। जिसके चलते मरीजों को गंगापुर सिटी, हिन्डौन सिटी या करौली की शरण में जाने की मजबूरी हो जाती है। लोगों ने कई बार महिला चिकित्सक की भी मांग है लेकिन वजीरपुर में एक भी चिकित्सक नहीं होने से महिलाओं को तो इलाज के लिए बाहर ही जाना पड़ता है। इससे परिजनों को आर्थिक परेशानी भी उठानी पड़ती है। वहीं उपखण्ड क्षेत्र में पीएचसी भी पर भी एएनएम के रिक्त पद चल रहे हैं।

राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सेवा एक एमओ के भरोसे चल रहा है। वहीं मीणा बडौदा केन्द्र पर एम ओ का पद रिक्त है। जिसका अतिरिक्त चार्ज वजीरपुर चिकित्सक पर है। इन केन्द्रों पर जब गर्भवती महिलाएं प्रसव के लिए पहुंचती है तो उन्हें अन्यत्र ही जाना पड़ता है। पद रिक्त चलने से यहां पर महिलाओं के प्रसव नहीं हो पाते हैं। ऐसे मे महिलाओं को अन्यत्र जाना मजबूरी हो जाती है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Check Also

चुनाव ड्यूटी में तहसीलदार, अवैध कॉलोनियां बसाने व कब्जों की जोन रिपोर्ट अटकी

जयपुर। जेडीए के तहसीलदारों की कलेक्ट्रेट में चुनाव ड्यूटी लगाने से शहर में अवैध कॉलोनियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *