ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / सेल्फ डिफेंस ही नहीं शरीर की मजबूती के लिए भी है जरूरी

सेल्फ डिफेंस ही नहीं शरीर की मजबूती के लिए भी है जरूरी



हेल्थ डेस्क. बॉक्सिंग से शरीर के सभी हिस्सों की एक्सरसाइज तो होती ही है, साथ ही इसे महिलाओं को सेल्फ डिफेंस के लिए भी सीखना चाहिए। किकिंग, पंचिंग, स्कवैटिंग, स्ट्रेचिंग से भरपूर बॉक्सिंग महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है।

  1. बॉक्सिंग हाई इंपैक्ट वर्कआउट है, जो मसल्स को टोन करता है। इससे फैट बर्न होता है। यह बॉडी अवेयरनेस बढ़ाकर आपको कॉन्फिडेंट बनाती है। इससे पेट कम होता है और बॉडी का अपर पार्ट स्ट्रॉन्ग होता है।

  2. इससे शरीर को ताकत मिलती है और काम करने की क्षमता बढ़ती है। बॉक्सिंग से ब्लड सर्कुलेशन इम्प्रूव होता है और शरीर के टॉक्सिंस दूर होते हैं। इससे स्किन हेल्दी रहती है।

  3. जब आप बॉक्सिंग करते हैं तो आपके हाथ, कंधे, पैर और कोर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। हाथ-पैरों में होने वाले दर्द और ऐंठन को कम करने में यह वर्कआउट फायदेमंद होता है।

  4. पंचिंग बैग के चारों और तेजी से घूमते हुए पंच लगाने से आपकी आंखों व हाथों के बीच का कॉर्डिनेशन बेहतर होता है। इससे संपूर्ण शरीर का संतुलन और समन्वय बेहतर होता है।

  5. पंचिंग बैग को हमेशा अपनी कलरई से मारें ताकि आपका पीछे का हाथ कलाई की सीध में रहे।

    • पंच करते समय अपनी कलाई का इस्तेमाल करें वरना हाथ की नसों को नुकसान पहुंच सकता है।
    • बॉक्सिंग करते हुए सही तरीके से सांस ले ताकि कार्डियो वर्कआउट हो सके।
    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      benefits of boxing for woman

Check Also

यूरिन के रंग और गंध में बदलाव होना कई खतरनाक बीमारियों की ओर इशारा

हेल्थ डेस्क. यूरिन, हल्के पीले रंग का पारदर्शी और हल्की गंध वाला फ्ल्यूड है, जिसके …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *