ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / स्ट्रॉबेरी उगाने के लिए इस शख्स ने छोड़ दी 20 लाख सालाना पैकेज की बैंक की नौकरी, अब कमा रहा इतना मुनाफा

स्ट्रॉबेरी उगाने के लिए इस शख्स ने छोड़ दी 20 लाख सालाना पैकेज की बैंक की नौकरी, अब कमा रहा इतना मुनाफा



सुनील सिंह बघेल, इंदौर. महाराष्ट्र के महाबलेश्वर और हिल स्टेशन का फल माने जाने वाली स्ट्रॉबेरी अब मालवा के खेतों में भी उग रही है। यह कारनामा कर दिखाया है निजी बैंक की 20 लाख रुपए सालाना पैकेज वाली नौकरी छोड़ किसान बने इंदौर के सुरेश शर्मा ने। उनका दावा है कि जिस तरह से फसल आ रही है, उससे वे दो एकड़ में लगाए पौधों से इस साल 30 लाख रुपए से ज्यादा की स्ट्रॉबेरी पैदा करेंगे।

यह प्रयास… महाबलेश्वर के किसानों से समझी ये पद्धति

गेहूं, चने और सोयाबीन की रिकॉर्ड खेती वाले इलाके में स्ट्रॉबेरी की खेती का आइडिया शर्मा को अपनी पिछले साल की महाबलेश्वर की यात्रा से मिला। वहां घूमने के दौरान जगह-जगह इसकी बिक्री के साथ उन्होंने कई सौ एकड़ के खेत देखे, जहां इसे उगाया जा रहा था। वहीं मन में विचार आया कि कैसे भी हो, इसकी खेती इंदौर में भी करेंगे। चूंकि यह फसल पूरी तरह मौसम पर निर्भर होती है, शर्मा ने इसका विस्तृत अध्ययन किया और वहां के किसानों से इसकी खेती की पद्धति भी समझी।

ऐसे शुरुआत… दो एकड़ जमीन खरीदी, 50 पौधे रोपे

इंदौर में सांवेर बायपास के पास जमीन खरीदी और दो एकड़ में महाबलेश्वर से लाए करीब 50 पौधे रोपे। शर्मा बताते हैं, महाबलेश्वर क्षेत्र में किसान एक से डेढ़ किलो प्रति पौधा उत्पादन लेते हैं।यहां 700 ग्राम प्रति पौधा उत्पादन होने का अनुमान है। मौसम में आए उतार-चढ़ाव के चलते स्ट्रॉबेरी में समय से पहले फल आ गए हैं, जिससे वे थोड़ा चिंतित भी हैं। फिर भी अनुमान है कि वे इस साल करीब 30 लाख की स्ट्रॉबेरी उगा लेंगे।

यह आशंका… रतलाम में सफल नहीं

मूलतः उत्तर अमेरिका और यूरोप में होने वाली स्ट्रॉबेरी भारत में अभी तक देहरादून, नैनीताल, दार्जिलिंग, झारखंड, पंजाब, महाराष्ट्र के महाबलेश्वर या कश्मीर क्षेत्र में ही होती थी। कुछ साल पहले रतलाम, मंदसौर में किसानों ने इसके पौधे रोपे थे, लेकिन प्रयोग सफल नहीं हुआ। शर्मा इस लिहाज से खुद को सफल मान रहे हैं।

यह जरूरत… प्रोसेसिंग सेंटर खोलें

व्यावसायिक उत्पादन में समस्या यह है कि अच्छे आकार के फल तो बाजार में खप सकते हैं, छोटे आकार की स्ट्रॉबेरी के लिए कोई प्रोसेसिंग सेंटर ही नहीं है। शर्मा कहते हैं इंदौर में अच्छा फूड प्रोसेसिंग सेंटर बन जाए तो स्ट्रॉबेरी के कारण मालवा के किसानों की हालत बदल सकती है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


Indore MP news in hindi: Man Left Bank Job for growing strawberries

Check Also

Weather Report Today/Jabalpur का आज का तापमान अभी 17°C है, Jabalpur का कल का न्यूनतम तापमान 17°C और अधिकतम तापमान 32°C था

Jabalpur Weather Alert (24 Mar 2019):। jabalpur में वर्तमान तापमान 17°C डिग्री सेल्सियस हैं, jabalpur …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *