ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / हाउसिंग बोर्ड में पैसे नहीं भरने पर जिनकी संपत्ति राजसात हुई, वे दोबारा खरीद सकेंगे

हाउसिंग बोर्ड में पैसे नहीं भरने पर जिनकी संपत्ति राजसात हुई, वे दोबारा खरीद सकेंगे



मांगीलाल चौहान, इंदौर. मप्र हाउसिंग बोर्ड की संपत्ति के ऐसे खरीदार जिन्होंने महंगे आवास या दुकान खरीदे हैं और समय पर पैसे नहीं भर पाने के कारण बोर्ड ने उनकी संपत्ति राजसात कर ली है, उनके लिए राहतभरी खबर है। बोर्ड ने ऐसे खरीदारों के लिए ‘वन टाइम सेटलमेंट स्कीम’ लागू की है। इसके तहत खरीदार राजसात संपत्ति दोबारा प्राप्त कर सकेंगे। बोर्ड चेयरमैन कृष्णमुरारी मोघे ने इस निर्णय की पुष्टि की है।

बोर्ड में नियम है कि जो व्यक्ति नीलामी में संपत्ति खरीदता है, उसे संपत्ति की पूरी कीमत 30 दिन में बिना ब्याज के चुकाना होती है। यदि 30 दिन में चुका नहीं पाए तो 120 दिन में राशि ब्याज सहित जमा कराई जा सकती है। उसके बाद संपत्ति का ऑफर निरस्त कर संपत्ति राजसात कर ली जाती है।

बाद में उसी संपत्ति का दोबारा ऑफर बुलाने के बाद संपत्ति की आधी कीमत पूर्व खरीदार को लौटा दी जाती है। ताजा निर्णय में ऐसे पूर्व खरीदार 31 दिसंबर तक राजसात संपत्ति के लिए एक मुश्त योजना के तहत राशि जमा कर सकते हैं। उन्हें ब्याज में भी 50 प्रतिशत छूट भी जाएगी। उसके बाद ऑफर जीवित कर संपत्ति सौंप दी जाएगी। ऑफर में 50 लाख रुपए व उससे अधिक की संपत्ति खरीदने पर राशि 12 माह में जमा कराई जा सकेगी। अब तक नियम 120 दिन में जमा नहीं करने पर संपत्ति राजसात कर ली जाती थी।

आर्थिक नुकसान न हो, इसलिए योजना लागू की:हाल ही में हुई बोर्ड बैठक में विचार किया गया कि नीलामी में बोली लगाने वाले ऑफर कर्ता की संपत्ति का ऑफर निरस्त करने के बाद दोबारा ऑफर बुलाने की प्रक्रिया में समय लग जाता है। अकसर ऑफर कर्ता को बैंकों से लोन लेने में देरी पर समय बढ़ाने की मांग करता है।

कई ऑफर कर्ता अदालत जाते हैं। राजसात संपत्ति का दोबारा ऑफर बुलाने पर उसकी कीमत प्राय: कम हो जाती है जिससे बोर्ड को आर्थिक नुकसान होता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


MP Housing Board

Check Also

भोपाल में सहकारी बैंक के गार्ड ने खुद को मारी गोली; मौके पर ही मौत

भोपाल.बैरागढ़ स्थित एक सहकारी बैंक में गार्डदिनेश राजावत (32) ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *