ब्रेकिंग न्यूज
loading...
Hindi News / ऑटो / 2017 के मुकाबले इस साल रिकॉल हुई 1,62,869 गाड़ियां, इस लिस्ट में होंडा सबसे आगे

2017 के मुकाबले इस साल रिकॉल हुई 1,62,869 गाड़ियां, इस लिस्ट में होंडा सबसे आगे



ऑटो डेस्क. ऑटो कंपनियां अपनी गाड़ियों को सुरक्षा और सुविधा में बेहतर करने के लिए कई तरह के सॉफ्टवेयर और इलेक्ट्रॉनिक पार्ट को गाड़ियों में इस्तेमाल करती है जो टेस्टिंग के दौरान तो बहेतर प्रदर्शन करते हैं लेकिन रियर लाइफ ड्राइविंग में फेल हो जाते हैं। जिसके कारण कस्टमर को बेहतर सर्विस देने के लिए गाड़ियों को रिकॉल किया जाता है। हाल ही में आई एक रिपोर्ट में यह सामने आया किइस साल कुल1,62,869 गाड़ियों को रिकॉल किया गया।

Vehicle recall report 2018

हाल ही में एक मीडिया रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि पिछले साल के मुकाबले इस साल दोगुनीगाड़ियों को रिकॉल किया गया। 2017 में जहां सिर्फ 80,531 यूनिट को रिकॉल किया गया वहीं साल 2018 में 1,62,869 यूनिट को रिकॉल किया गया जिसमें टू व्हीलर और फोर व्हीकल दोनों ही शामिल है।

ICRA के कॉर्पोरेट रेटिंग के वाइस प्रेसिडेंट शमशेर दिवान ने बताया कि आज के दौर की गाड़ियों में कई सारे स्पेशल फीचर्स होते हैं जिसमें कई तरह के इलेक्ट्रॉनिक और सेफ्टी पार्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है जो रियल लाइफ ड्राइविंग में वैसे काम नहीं करते जिसके लिए उन्हें डिजाइन किया गया होता है।

Vehicle recall report 2018

दिवान ने आगे कहा कि आजकल कंपनी लागत कम करने के लिए एक ही प्लेटफॉर्म पर कई मॉडल का निर्माण करती है। वहीं एक ही प्लेटफॉर्म पर बेस्ड होने के कारण इनमें एक ही तरह के पार्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है। जिसमें खराबी आने पर सभी व्हीकल में खराबी आती है जो रिकॉल करने का कारण बनती है। इन रिकॉल से यह भी पता चलता है कि कंपनी कस्टमर की डिमांड को लेकर गंभीर है और कोई भी दिक्कत आने पर कस्टमर्स को बेहतर सर्विस देने के लिए सदैव आगे रहती है।

Vehicle recall report 2018

वहीं एक और एक्सपर्ट ने बताया कि बेहतर फ्यूल एफिशिएंसी और बेहतर डायनामिक के लिए गाड़ियों में कई तरह के सॉफ्टवेयर और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन ऑटो कंपनी के लिए इन्हें टेस्ट करना और एरर प्रूफ बनाना काफी मुश्किल हो जाता है।

2018 में रिकॉल हुई कंपनियों में होंडा सबसे आगे

अपने स्मूद और पावरफुल इंजन के लिए जानी जाने वाली होंडा मोटर्स इंडिया इस साल कारों को रिकॉल करने में पहले पायदान पर रही। 30,124 यूनिट के साथ होंडा मोटर्स ने इस साल सबसे ज्यादा यूनिट रिकॉल की। होंडा ने सबसे पहला रिकॉल जनवरी 2018 में किया जिसमें अकॉर्ड, सिटी और जैज के एयरबैग में दिक्कत आने के बाद कुल 22,834 यूनिट रिकॉल किया गया। दूसरा रिकॉल जुलाई 2018 में किया गया जब हाल ही में लॉन्च कॉम्पैक्ट सेडान अमेज के EPS सिस्टम में गड़बड़ी पाई गई जिसके बाद कुल 7,290 यूनिट कारें वापस बुलाई गई।

Vehicle recall report 2018

दूसरे पायदान पर मर्सिडीज इंडिया रही जिसने स्टीयरिंग कॉलम और एयरबैग में दिक्कत आने के कारण अलग अलग मॉडल के कुल 22,579 यूनिट को रिकॉल किया।जर्मनी की लग्जरी कार मेकर कंपनी बीएमडब्ल्यू ने भी इस साल 16,350 यूनिट को रिकॉल किया। वहीं फॉक्सवैगन ग्रुप ने कुल 16,113 यूनिट को इस साल रिकॉल किया जिसमें ऑडी A4 और Q5 के 15,812 यूनिट शामिल है जिसके ए.सी. में गड़बड़ी पाई गई।

Vehicle recall report 2018

भारत की सबसे बड़ी कार मेकर कंपनी मारुति सुजुकी में भी इस साल 2,799 यूनिट को रिकॉल किया जिसमें सियाज के फेसलिफ्ट वर्जन की 880 यूनिट भी शामिल है जिसके स्पीडोमीटर में गड़बड़ी पाई गई थी। वहीं कंपनी ने स्विफ्ट के 566 यूनिट और डिजायर के 713 यूनिट को भी रिकॉल किया जिसके एयरबैग कंट्रोलर यूनिट में गड़बड़ी थी। वहीं 640 यूनिट सुपर कैरी के भी रिकॉल किए गए जिसके फ्यूल पंप में गड़बड़ी थी।

रिकॉल पॉलिसी के कारण अब तक कुल 2.8 मिलियन व्हीकल को अलग अलग कंपनियों द्वारा रिकॉल किया जा चुका है। भारत में 2015 और 2016 में सबसे ज्यादा यूनिट रिकॉल की गई थी जो क्रमश: 10,00,467 यूनिट और 8,42,909 यूनिट थी।

Vehicle recall report 2018

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


vehicled recalls double in 2018 honda motors is on the top

Check Also

महिंद्रा Alturas G4 भारत में लॉन्च, कीमत 26.95 लाख रुपए से शुरू

ऑटो डेस्क. महिंद्रा एंड महिंद्रा की अबतक की सबसे प्रीमियम SUV Alturas G4 भारत में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *