loading...
Hindi News / स्वास्थ्य चिकित्सा / मां बनना चाहती हैं तो जल्दी सोने-जल्दी उठने का फॉर्मूला अपनाएं, इसका सीधा सम्बंध प्रेग्नेंसी से है

मां बनना चाहती हैं तो जल्दी सोने-जल्दी उठने का फॉर्मूला अपनाएं, इसका सीधा सम्बंध प्रेग्नेंसी से है



हेल्थ डेस्क. सुबह जल्दी उठने वाली महिलाओं के प्रेग्नेंट होनी की संभावना अधिक होती है। 100 महिलाओं पर हुई वारविक यूनिवर्सिटी की रिसर्च में कहा गया है कि प्रेग्नेंसी प्लान करना चाहती हैं तो देर रात तक जगने की बजाय सुबह जल्दी उठने की आदत डालें। शोध के मुताबिक, जल्दी सोने और जल्दी उठने की आदत का फॉर्मूला अपनाएं।

  1. शोध के अनुसार, रिसर्च में शामिल 100 में से एक तिहाई महिलाएं गर्भवती हुई हैं। ये वो महिलाएं हैं जिनके सोने का समय रात 10.30 से लेकर सुबह 6.30 बजे तक था। शोधकर्ताओं का कहना है कि ये महिलाएं रात 2.30 से 3.30 बजे के बीच गहरी नींद में थीं। वहीं देर रात सोने वाली महिलाएं का गहरी नींद का समय सुबह 6 बजे था।

  2. जल्दी उठने का प्रेग्नेंसी से क्या कनेक्शन है, इसे समझने के लिए शोधकर्ताओं ने महिलाओं के स्लीपिंग पैटर्न का अध्ययन किया। रिसर्च से जुड़े प्रोफेसर गेराल्डाइन हार्टसोर्न के अनुसार, ऐसी महिलाएं जो सुबह जल्दी उठती हैं उनमें स्मोकिंग, ओवरवेट, डायबिटीज और हृदय रोगों की आशंका कम होती है। स्मोकिंग के अलावा ये समस्याएं प्रेग्नेंसी में कई तरह की बाधाएं पैदा करती हैं।

  3. देर रात जगने वाली महिलाओं की फिटनेस सुबह उठने वालों के मुकाबले कमजोर हाेती है। ऐसी महिलाएं ज्यादातर रोजमर्रा के कामों को पूरा करने के लिए बॉडी क्लॉक के विरुद्ध जाती हैं जो शरीर की अंदरूनी कार्यशैली को अव्यवस्थित करता है। ऐसी महिलाएं जो मां बनना चाहती हैं उन्हें नाइट शिफ्ट से दूरी बनानी चाहिए।

  4. शिकागो के नॉर्थ वेस्टर्न यूनिवर्सिटी मेडिकल स्कूल के न्यूरोलॉजिस्ट फिलीज ज़ी का कहना है कि ऐसी महिलाएं जो देर रात या नाइट शिफ्ट करती हैं उनकी प्रजनन क्षमता और मासिकधर्म अनियमित हो जाता है। जो प्रेग्नेंसी के लिए रिस्क फैक्टर बनता है।

  5. ताइवान में हुए एक हालिया अध्ययन में सामने आया है कि नींद से जुड़ी समस्याओं का असर प्रजनन क्षमता पर पड़ता है। शोधकर्ता डॉ. वैग का कहना है कि महिलाएं को बच्चे जन्म देने की उम्र तक जल्द ही साेने की आदत डालनी चाहिए और नाइट शिफ्ट से बचना चाहिए।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      early riser women more likely to be pregnant than who is working till late night

Check Also

60 फीसदी भारतीयों को पसंद है शाकाहार, ग्लोबल रिसर्च कंपनी इप्सोस ने 29 देशों में किया सर्वे

लाइफस्टाइल डेस्क. ग्लोबल रिसर्च कंपनी इप्सोस ने भारतीयों के खाने के मिजाज पर एक सर्वे …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *