loading...
Hindi News / मनोरंजन / राजनीतिक उथल-पुथल के बीच 'कमजोर' प्रधानमंत्री की जद्दोजहद दिखाती है फिल्म

राजनीतिक उथल-पुथल के बीच 'कमजोर' प्रधानमंत्री की जद्दोजहद दिखाती है फिल्म



स्टार रेटिंग 2/5
स्टारकास्ट अनुपम खेर,अक्षय खन्ना, सुजैन बर्नेट,अहाना कुमरा
डायरेक्टर विजय गुट्टे
प्रोड्यूसर पेन इंडिया लिमिटेड, सुनील वोहरा, धवल गाड़ा
म्यूजिक सुदीप रॉय, साधू तिवारी
जॉनर बायोपिक
रनिंग टाइम 1 घंटे 50 मिनट

शुभा शेट्‌टी साहा/ बॉलीवुड डेस्क.विजय गुट्टे के निर्देशन में बनी द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर रिलीज हो गई है। फिल्म पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की लाइफ पर बेस्ड है। यह उन्हीं के मीडिया सलाहकार संजय बारू की 2014 में आई किताब द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर आधारित है। फिल्म में अक्षय खन्ना ने संजय बारू का रोल अदा किया है और पूरी फिल्म में वही मनमोहन सिंह की कहानी सुनाते नजर आते हैं।

  1. फिल्म 2004 से 2009 तक यूपीए शासन के दौरान सत्तारूढ़ पार्टी के कुछ रहस्यों को सामने लाने का प्रयास करती है। इस दौरान मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थे।प्रधानमंत्री जिसे एक प्रतिभाशाली लेकिन ‘कमजोर’ प्रधानमंत्री के रूप में चित्रित किया गया है, जो अंत में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के हाथ कठपुतली बनकर रह गया। वास्तव में फिल्म सोनिया,राहुल और उनके करीबी सलाहकारों को क्रूर महत्वाकांक्षी और अभिमानी राजनीतिक खिलाड़ियों के रूप में चित्रित करती है, जबकि मनमोहन सिंह को ऐसे व्यक्ति के रूप में दिखाया गया है जो देश के लिए अच्छा करने का इरादा रखता है, लेकिन गांधी परिवार की ओर से लगातार दबाव और मैनीप्ल्यूटिव स्किल्स की कमी के कारण वास्तव में ऐसा नहीं कर पाता।

  2. फिल्म की सबसे अच्छी बात कलाकारों का अभिनय है। सोनिया गांधी की भूमिका निभाने वाली सुज़ैन बर्नेट शानदार हैं, क्योंकि वह श्रीमतिगांधी के तौर-तरीकों और व्यक्तित्व का काफी सटीक रूप से अनुकरण करती हैं। लीड रोल मेंअनुपम खेर मनमोहन की तरह ही दिखते और बोलते हैं। हालांकि उनकी चाल मूल विषय का अनुकरण करने की तुलना में मज़ाक अधिक उड़ाती है। राहुल गांधी के रूप में अर्जुन माथुर और प्रियंका गांधी के रूप में अहाना कुमरा के पास बहुत कुछ करने को नहीं है। अक्षय खन्ना आत्मविश्वास और आसानी के साथ बारू की भूमिका में फिट बैठते हैं। अक्षय का चार्म निश्चित रूप से एक बेहतर फिल्म का हकदार था।

  3. फिल्म अपने जोनरको लेकर कंफ्यूज लगती है और एक डॉक्यू ड्रामा की तरह महसूस होती है। बैकग्राउंड म्यूजिक फिल्म से बिलकुल मैच नहीं करता।

    1. Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


      Movie Review: The accidental prime minster


      Movie Review: The accidental prime minster

Check Also

Shatrughan Sinha: जब भरी रैली में अटल बिहारी वाजपेयी ने कर दिया शत्रुघ्न सिन्हा को शर्मिंदा, कही थी सिर्फ एक बात और छा गया था सन्नाटा

मुंबई. शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) भाजपा (BJP) नेता होते हुए भी शनिवार को कोलकाता में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *