loading...
Hindi News / राज्य / मध्य प्रदेश / भाजपा नेता की हत्या करने वाला आरोपी बोला – मां की मौत के समय रु. नहीं दिए तो ठान लिया था मार दूंगा

भाजपा नेता की हत्या करने वाला आरोपी बोला – मां की मौत के समय रु. नहीं दिए तो ठान लिया था मार दूंगा



मंदसौर. नगर पालिक अध्यक्षप्रहलाद बंधवार की हत्या के आरोपी मनीष बैरागी कोराजस्थान के प्रतापगढ़ से पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया किमंदसौर पुलिस द्वारा एनकाउंटर के डर से वह राजस्थान भाग गया था। वहां प्रतापगढ़की कोतवाली में उसकी सरेंडर करने की प्लानिंगथी। बैरागी ने बताया किउसे पता चला था कि प्रतापगढ़ जेल में मोबाइल चलाने को मिलता है। इसीलिए वह वहां सरेंडर करना चाहता था।

10 दिन पहले बनाईथीहत्या की साजिश
पुलिस ने बताया कि मनीष बैरागी ने 10 दिन पहले हीबंधवार की हत्या की साजिश बना ली थी। उसका पांच लाख रुपए को लेकर बंधवार से विवाद चल रहा था। वह कई बार बंधवार को कह चुका था- ‘दादा रुपए लौटा दो वरना कभी भी नपा के उपचुनाव करवा दूंगा।’हत्या के पीछे कारण रुपयों का लेन-देन सामने आया है।

बैरागी ने कहा- तीन गोली मारी थी :पुलिस गिरफ्त में आए मनीष ने हत्या के पीछे की वजह बताते हुए कहा-दादा ने कहा था अभी तू खर्चा कर दे चुनाव जीतने के बाद तुझे काम दिलवाऊंगा। ठेके भी लेंगे, तू जो कहेगा वो ठेके दिलवा दूंगा। तेरी जो गुमटी है उसे स्थाई कर दूंगा, तेरे मकान का पट्टा कर दूंगा। वे तीन साल तक मुझे बेवकूफ बनाते रहे। अभी उन्होंने मेरे गुमटी के सामने एक पत्रकार की गुमटी लगवा दी।

मेरी मां की मौत हुई, मेरे पास रुपए नहीं थे। मैंने दादा से रुपए मांगे, उन्हें संदेश भिजवाया था कि दादा से कह देना कि हाथ जोड़कर निवेदन है कि मुझे रुपए की जरूरत है। आज रुपए नहीं दिए तो फिर कभीलूंगा। बस उसी दिन कसम खा ली थी कि दादा को मारूंगा। मैंने लोन लेकर दुकान खोली थी। दादा ने सभी को फायदा पहुंचाया, बस मेरे लिए कभी कुछ नहीं किया।

ह

मैंने दादा के चुनाव में दिल से काम किया। चुनाव के दौरान उन्होंने रुपए मांगे थे। मैंने ऑनलाइन भाजपा की सदस्यता ली थी। हत्या करने की बात पर कहा – मैंने जो किया वह सही किया। मुझे जो सही लगा वहा किया। मुझे ऐसा नेता नहीं चाहिए तो समय पर काम नहीं आए। मेरी मां की लाश घर पर पड़ी थी और दादा ने रुपए नहीं दिए। मुझे पता था कि वे प्रतिदिन वहां आते थे। वे बैठकर चाय पी रहे थे। मैं उनका इंतजार कर रहा था। बाहर आए तो उनके पास गया नमस्कार कियाऔर फिर फायर कर दिया। मैंने उन्हें तीन गोली मारी। पहला फायर पेट में किया फिर दो फायर सिर पर किए। मैंने दादा को डेढ़ लाख रुपए दिए थे।

हत्या के बाद बुलेट छोड़कर भाग गया था आरोपी

बीते गुरुवार कीशाम कोप्रहलाद बंधवार (56) शादी में शामिल होने के लिए जा रहे थे। वोनई आबादी इलाके में अपने मित्र लोकेंद्र कुमावत की दुकान पर रुके। उन्होंने लोकेंद्र के नौकर को लिफाफा और 500 रुपए खुल्ले कराने भेजा। दुकान के बाहर ही खड़े रहकर नौकर का इंतजार कर रहे थे। तभी बुलेट (सीआईयू 1834) पर सवार होकर एक युवक पहुंचा। उसने नगर पालिक अध्यक्ष की को गोली मार दी और बुलेट छोड़कर वहां से भाग गया।

आरोपी मनीष बैरागी का अपराधों से पुराना नाता।

पहले नमस्ते किया फिर मार दी गोली

सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला के अनुसार प्रत्यक्षदर्शी लोकेंद्र कुमावत ने बताया कि वारदात का आरोपी मनीष बुलेट पर सवार हाेकर आया था। उसने पहले बंधवार से नमस्ते किया। इसके बाद कुछ बात कर रहा था तभी दोनों के बीच कहासुनी हो गई। इसदौरान मनीष ने जेब से पिस्टल निकाली और बंधवार पर दो फायर किए। पुलिस को भी मौके से दो खाली खोखे मिले हैं।

दिसंबर 2015 में प्रहलाद बंधवार नपाध्यक्ष चुने गए तब मनीष बैरागी ही विजय जुलूस में शामिल वाहन का सारथी था।

मनीष हथियार तस्करी का भी आरोपी

  • 2004 में सिटी कोतवाली ने चोरी का केस दर्ज किया।
  • 2008 मनीष ने गोल चौराहा स्थित कुमावत मेडिकल संचालक मुकेश कुमावत पर फायर किया। उसके घर दबिश में 40 किलो डाइकोफिन मिला। पुलिस ने एनडीपीएस की धाराओं में केस दर्ज किया।
  • 2017 में रतलाम जिले के रिंगनोद थाने में भी अवैध हथियार खरीद-फरोख्त का केस दर्ज हैं।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


पुलिस ने आरोपी मनीष बैरागी को राजस्थान के प्रतापगढ़ से पकड़ा।

Check Also

मप्र का प्रथम केट शो इंदौर में संपन्न, लॉन्ग हेयर और शार्ट हेयर कैटेगरी में 6 नस्ल की बिल्लियां थी शामिल

इंदौर. मप्र का पहला केट शो रविवार को इंदौर में संपन्न हुआ। दो कैटेगरी में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *